Coronavirus cases in Maharashtra: 920Mumbai: 526Pune: 101Pimpri Chinchwad: 39Islampur Sangli: 25Kalyan-Dombivali: 23Ahmednagar: 23Navi Mumbai: 22Thane: 19Nagpur: 17Panvel: 11Aurangabad: 10Vasai-Virar: 8Latur: 8Satara: 5Buldhana: 5Yavatmal: 4Usmanabad: 3Ratnagiri: 2Kolhapur: 2Jalgoan: 2Nashik: 2Other State Resident in Maharashtra: 2Ulhasnagar: 1Sindudurga: 1Pune Gramin: 1Gondia: 1Palghar: 1Washim: 1Amaravati: 1Hingoli: 1Jalna: 1Total Deaths: 52Total Discharged: 66BMC Helpline Number:1916State Helpline Number:022-22694725

Interview: बचपन में टॉम बॉय थीं दिशा पाटनी, जादू कहकर चिड़ाते थे लोग

दिशा ने कहा, मेरे पापा पुलिस में थे और मैं जादू की तरह दिखती थी, इसलिए लड़के मेरे ऊपर ध्यान नहीं देते थे। कॉलेज में भी किसी ने नहीं पूछा। लड़कों को लेकर मेरी इतनी एक्साइटिंग लाइफ नहीं रही है।

Interview: बचपन में टॉम बॉय थीं दिशा पाटनी, जादू कहकर चिड़ाते थे लोग
SHARE

दिशा पाटनी उत्तर प्रदेश के छोटे से शहर बरेली से आती हैं। उन्होंने कम उम्र में बॉलीवुड में बड़ा मुकाम हासिल किया है। नीरज पांडे और साजिद नाडियाडवाला से लेकर उन्होंने सलमान खान तक के साथ फिल्में की हैं। इस समय दिशा अपनी आगामी फिल्म 'मलंग' और उसमें आदित्य रॉय कपूर के साथ फिल्माए गए रोमांटिक सीन्स के लिए काफी सुर्खिया बटोर रही हैं। हाल ही में दिशा ने मुंबई लाइव से खास मुलाकात की, इस दौरान उन्होंने तरह तरह के सवालों का बेबाकी के साथ जवाब दिया। 

आप अपनी जर्नी को कैसे देखती हैं?





View this post on Instagram









Some more #malang❤️🧜🏻‍♀️

A post shared by disha patani (paatni) (@dishapatani) on

मेरी पहली फिल्म तेलुगू थी, उसके बाद मैंने धोनी (M.S. Dhoni: The Untold Story) की। यह मेरी अभी तक की एकमात्र बायोपिक रही है। नीरज पांडे ने इसे डायरेक्ट किया था, वे एक बेहतरीन डायरेक्टर हैं। मैं खुद को बहुत लकी फील करती हूं, मैंने उनसे बहुत सारी सलाह ली। इसके बाद मैंने जैकी चैन के साथ काम किया, उनका साथ काम करना मेरा सपना पूरा होने जैसा था। मैं शूटिंग के दौरान कई बार उन्हें देखते ही रह जाती थी। 'बागी' में अहमद सर और साजिद सर के साथ काम करना बेहतरीन रहा। उसके बाद 'भारत' और अब 'मलंग'। 'मलंग'  में मुझे वो सब करने को मिला जो मैं करना चाहती थी। 

फिल्मों से पहले आपकी लाइफ किस तरह की थी, लड़के आपकी ओर नजरें रखते थे? 

मेरे पापा पुलिस में थे और मैं जादू की तरह दिखती थी, इसलिए लड़के मेरे ऊपर ध्यान नहीं देते थे। कॉलेज में भी किसी ने नहीं पूछा। लड़कों को लेकर मेरी इतनी एक्साइटिंग लाइफ नहीं रही है। मेरी बहन दबंग टाइप की थी, जो लड़के मुझे बुली करते थे वह उन्हें मारती थी। बचपन में मैं बहुत बुली हुई हूं। 

अपने से दोगुनी उम्र के सलमान खान के साथ रोमांस करना सहज या असहज?

मैंने जैकी चैन के साथ फिल्म की है जोकि 65 साल के हैं। तो यह मैटर नहीं करता है। आप एक एक्टर हो और यह आपका जॉब है। जैसे आप पत्रकार हैं कभी कभी आपका मूड सवाल ना करने का भी होता होगा। पर आपका यह जॉब है तो आपको यह करना ही पड़ेगा। वही हमारा है हम कभी कभी चाहे कुछ भी फील करें पर हमें भी अपना काम करना होगा। और जब एक सीनियर एक्टर आपके सामने होता है तो वो आपको इतना तो कंफर्टेबल फील करा ही देता है कि आप आराम से काम कर पाएं। 

तो क्या आप ऐसी फिल्में भी साइन करती हैं, जिसको करने का आपका मन नहीं होता है?

नहीं यही तो वजह है कि मैं बहुत ही कम फिल्में करती हूं। मैंने बीते सालों में बहुत ही कम फिल्में करी हैं। 

आपके नजरिए से स्टारडम क्या है?

मेरे नजरिए से सलमान खान बनना ही स्टारडम है। जिस तरह से लोग उन्हें प्यार करते हैं वह देखने लायक है। जब भी वे कोई फिल्म करते हैं तो वे हमेशा अपने फैंस के बारे में सोचते हैं कि वे क्या पसंद करेंगे। जब आप उस लेवल पर पहुंच जाते हो जब आपको इतना सारा प्यार मिलता है तो सच्चे अर्थों में वही स्टारडम है। 

बॉलीवुड में कोई ऐसी एक्ट्रेस जिनकी तरह आप भी सफल बनना चाहती हैं?

View this post on Instagram

🦋 #MYCALVINS @calvinklein

A post shared by disha patani (paatni) (@dishapatani) on

अचीवमेंट का तो पता नहीं पर हां, मैं प्रियंका चोपड़ा को बहुत पसंद करती हूं। वे भी बरेली से हैं जहां से मैं हूं। उन्होंने बहुत कुछ अचीव किया है। बरेली एक छोटा सा शहर है। वहां से निकलकर वे हॉलीवुड तक पहुंची हैं। 

क्या आप भी हॉलीवुड की ओर रुख कर रही हैं?

यहां से जब थोड़ा ब्रेक मिलेगा तो वहां पर जाउंगी। उस सब के लिए टाइम की जरूरत होती है। 

संबंधित विषय
संबंधित ख़बरें