Mardaani 2 Review: अपराध का सफाया करने लौटी शिवानी शिवाजी राव, विलेन है खूंखार

'मर्दानी 2' को गोपी पुतरन ने लिखा और डायरेक्ट किया है। इससे पहले वे 'मर्दानी' को लिख भी चुके हैं। उनका डायरेक्शन और लेखनी दोनों मजबूत है। फिल्म देखकर ऐसा नहीं लगता कि उनकी यह डेब्यू फिल्म है।

SHARE

देश में इस समय 'नाम शबाना', 'मर्दानी', 'मणिकर्णिका' और 'सांड की आंख' जैसी महिला प्रधान फिल्में बन रही हैं और दर्शक इन्हें खूप पसंद भी कर रहे हैं। इसका साफ मतलब है कि अब सिर्फ हीरो, कोई मेल एक्टर नहीं बल्कि कोई फीमेल एक्ट्रेस भी हो सकती है, जो फिल्म में एक्शन भी कर सकती है और कॉमेडी भी। साथ ही वह शादी शुदा है या कुंवारी इससे भी अब कोई फर्क नहीं पड़ेगा। अगर एक्टिंग में दम है तो दर्शक आपको थिएटर में देखने जाएंगे। इस कड़ी में रानी मुखर्जी का नाम इस समय सबसे आगे आ रहा है। 'मर्दानी' और 'हिचकी' की बड़ी सफलता के बाद उन्होंने 'मर्दानी 2' से एक बार फिर वापसी की है। इस फिल्म में उनका सामना एक ऐसे अपराधी से होता है जो बेहद ही खूंखार और इंटेलिजेंट है। 

'मर्दानी 2' को गोपी पुतरन ने लिखा और डायरेक्ट किया है। इससे पहले वे 'मर्दानी' को लिख भी चुके हैं। उनका डायरेक्शन और लेखनी दोनों मजबूत हैं। फिल्म देखकर ऐसा नहीं लगता कि उनकी यह डेब्यू फिल्म है। जहां फिल्म में रानी मुखर्जी का किरदार शिवानी शिवाजी राव बेहद ही स्ट्रॉन्ग और जमीन से जुड़ा हुआ है वहीं फिल्म के विलेन का किरदार जोकि विशाल जेठवा ने निभाया है, बड़ी ही बारीकी से लिखा गया है। 

फिल्म की शुरुआत एक ऐसे सीन से होती है, जिसे देखकर आप शुरुआत से ही फिल्म में जुड़ पाएंगे। विलेन सनी (विशाल जेठवा) ऐसी लड़कियों को निशाना बनाता है, जो समाज में अपनी आवाज उठाना जानती हैं, अपने हक के लिए लड़ना जानती हैं। उन्हें किडनैप करके उनका रेप करता है और बुरी तरह से प्रताड़ित कर जान से मार देता है। इत्तेफाक से शिवानी शिवाजी राव (रानी मुखर्जी) की नई ज्वाइनिंग कोटा शहर में होती है और उसी वक्त सनी इस शहर में हैवानियत से भरी वारदात को अंजाम देता है।

शिवानी हर कीमत में इस हैवान को पकड़ना चाहती है और उसे पकड़ने की जद्दोजहद में लग जाती है। पर सनी भी काफी शातिर है और कई बार शिवानी के पास से ही निकल जाता है। दूसरी तरफ शिवानी का तबादला भी हो जाता है, अब वक्त आता है कि शिवानी को 48 घंटे में सनी को पकड़ना है। इसके बाद जो जद्दोजहद चालू होती है उसके लिए आपको फिल्म देखनी होगी। 

रानी मुखर्जी ने शादी शुदा एक्ट्रेस के लिए एक रास्ता खोला है। शादी के बाद धारणा थी कि दर्शक उन्हें नहीं स्वीकारेंगे जिसे रानी मुखर्जी ने गलत साबित कर दिया है। 41 साल की उम्र में रानी ने जो एक्शन किए हैं, वे तारीफ के काबिल हैं। साथ ही उनकी एक्टिंग तो शानदार है ही। साथ ही इस फिल्म से विशाल जेठवा को बड़ी लोकप्रियता मिलने वाली है। उन्होंने विलेन का किरदार बाखूबी निभाया है। दर्शकों को पूरी तरह से सरप्राइज और डराने में वे सफल रहे हैं। 

रानी मुखर्जी की यह फिल्म 'मर्दानी 2' शानदार एक्टिंग, जबर्दस्त स्क्रीन प्ले और बेहतरीन म्यूजिक से सजी है। यह फिल्म कहीं कहीं आपको विचलित भी कर सकती है, पर बावजूद इसके आपको यह फिल्म एक बार जरूर देखनी चाहिए। क्योंकि फिल्म समाज को एक आइना दिखाने का काम करती है। साथ ही यह फिल्म औरतों की मनोदशा को भी बारीकी से बताती है। हम इस फिल्म को 5 में से 3.5 स्टार देते हैं। 


संबंधित विषय
ताजा ख़बरें