ऑस्कर के लिए नामित हुई ‘विलेज रॉकस्टार्स’, ‘पैडमैन’ और ‘मंटो’ रह गई पीछे

'विलेज रॉकस्टार्स' की कहानी कुछ गरीब बच्चों की कहानी है। ये बच्चे हर परिस्थिति में जीवन का लुप्त उठाते हैं। फिल्म का एक रॉक बैंड के रूप में बच्चों के साथ आगाज होता है। इसे बहुत ही मजाकिया अंदाज में पेश किया गया है।

SHARE

ऑस्कर 2019 के लिए असम की फिल्म ‘विलेज रॉकस्टार्स’ को ऑफीशियल एंट्री मिल गई है। इसकी घोषणा फिल्म फेडरेशन ऑफ इंडिया की तरफ से कर दी गई है। यह फिल्म पहले नेशनल अवॉर्ड जीत चुकी है।

सिनेमा में विशेष योगदान के लिए 65वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार 2018  में असमिया फिल्म 'विलेज रॉकस्टार्स' को बेस्‍ट फीचर फिल्म के लिए भी चुना जा चुका है। इस फिल्म को रीमा दास ने डायरेक्ट किया है।

इस बार के ऑस्कर में दीपिका पादुकोण और रणबीर सिंह की ‘पद्मावत’, अक्षय कुमार की ‘पैडमैन’, आलिया भट्ट की ‘राजी’, नवाजुद्दीन सिद्दिकी की हालिया रिलीज हुई ‘मंटो’, वरूण धवन की ‘अक्टूबर’, मनोज बाजपेयी और रिचा चड्ढा की ‘लव सोनिया’, अमिताभ बच्चन और ऋषि कपूर की ‘102 नॉट आउट’, रानी मुखर्जी की फिल्म ‘हिचकी’ के अलावा कुछ रीजनल लैंग्वेज कि फिल्मों जैसे मराठी, तमिल और आसामी फिल्मों का भी ऑस्कर में नामांकन हुआ था। पर बाजी असमिया फिल्म ‘विलेज रॉकस्टार्स’ ने मारी है।

'विलेज रॉकस्टार्स' की कहानी कुछ गरीब बच्चों की कहानी है। ये बच्चे हर परिस्थिति में जीवन का लुप्त उठाते हैं। फिल्म का एक रॉक बैंड के रूप में बच्चों के साथ आगाज होता है। इसे बहुत ही मजाकिया अंदाज में पेश किया गया है।



संबंधित विषय
ताजा ख़बरें