Interview अमिताभ बच्चन की ‘हम’ ने किया मोटिवेट: सिद्धार्थ मल्होत्रा

कभी इनकी फिल्में चली तो कभी रेंगती नजर आईं। पर वे खुद को हमेशा सकारात्मक बनाए रखने की कोशिश करते हैं और असफलताओं से सीखते हैं।

SHARE

‘स्टूडेंट ऑफ द ईयर’ फिल्म से बॉलीवुड में कदम रखने वाले एक्टर सिद्धार्थ मल्होत्रा ने ‘हंसी तो फंसी’, ‘एक विलेन’ और ‘ब्रदर्स’ जैसी फिल्मों में काम किया है। कभी इनकी फिल्में चली तो कभी रेंगती नजर आईं। पर वे खुद को हमेशा सकारात्मक बनाए रखने की कोशिश करते हैं और असफलताओं से सीखते हैं। जल्द ही वे मिलाप जवेरी के डायरेक्शन में बनी फिल्म ‘मरजावां’ में नजर आने वाले हैं। फिल्म की रिलीज से पहले मुंबई लाइव ने सिद्धार्थ से खास मुलाकात कर बातचीत की। इस दौरान उन्होंने फिल्म और पर्सनल जिंदगी से जुड़े सवालों का बेबाकी से जवाब दिया।    

मरजावां को लेकर प्रेशर

सिद्धार्थ ने कहा, हर किसी को प्रेशर होता है, मेरे अंदर भी प्रेशर है। मुझे इस फिल्म को लेकर बॉक्स ऑफिस से बहुत ज्यादा उम्मीदें भी हैं।

मारजावां की एक विलेन के साथ समानता

सिद्धार्थ ने कहा, ‘मरजावां’ फिल्म में एक विलेन से डबल एक्शन और डबल इम्पैक्ट देखने को मिलेगा। इस फिल्म में सब कुछ डबल है बस रितेश की हाइट को छोड़कर, इस फिल्म में वे 3 फुट के हैं। ‘एक विलेन’ में मेरा किरदार ज्यादा निगेटिव था, पर ‘मरजावां’ में ऐसा नहीं है। किरदार टफ है, एंग्री है पर साथ ही पॉजिटिव भी है। एक चीज की समानता जरूर है, वह भी एक इमोशनल लव स्टोरी थी और यह भी एक इमोशनल लव स्टोरी है।

अमिताभ बच्चन की हम ने किया मोटिवेट

सिद्धार्थ ने कहा, बच्चन साब की ‘हम’ को मैंने बहुत बार देखा था, उस फिल्म में एक्शन, कॉमेडी और गाने भी थे। उस फिल्म में जो डायलॉग थे, छोटे में मैं अपने दोस्तों के साथ बोला करता था। मैं 90 की फिल्मों का फैन रहा हूं और आज भी मैं उस दौर का फैन हूं। हम सब उसी दौर से आए हैं तो ‘मरजावां’ भी उसी तरह की फिल्म है, पर हां इसकी कहानी नई है।

अगली फिल्म शेरशाह 

सिद्धार्थ ने कहा, ‘शेरशाह’ रिलयल लाइफ किरदार है। उनकी बहुत ही सम्मानीय कहानी है, उन्होंने जो किया है उसके लिए आर्मी आज भी उनका सम्मान करती है। यह फिल्म अगले साल आएगी उस वक्त विस्तार के साथ बात करेंगे।

जबरिया जोड़ी की असफलता से सीख

सिद्धार्थ ने कहा, जो फिल्में मेरे हिसाब से नहीं गई हैं, उनसे मैंने बहुत कुछ सीखा है। फिल्मों के लिए उसकी कहानी, टीम का काम, रिलीज डेट और स्टूडियो जैसी कई चीजें मायने रखती हैं। जो फिल्म को हिट या फ्लॉप बनाती हैं। सबसे बड़ी बाद दर्शक ही असली राजा होते हैं जब उनकी तरफ से अच्छा रिस्पॉन्स नहीं आता तब तक कुछ होने वाला नहीं। ‘जबरिया जोड़ी’ की रिलीज डेट लास्ट मिनट में पुश हुई, जिसकी वजह से दर्शकों के बीच कन्फ्यूजन क्रिएट हुआ। कहीं ना कहीं ये वजह भी फिल्म की असफलता के लिए जिम्मेदार हैं। आप अपने पास्ट में ज्यादा समय तक नहीं रह सकते और अधिक मेहनत करो और आगे बढ़े चलो।

फिल्म की असफलता का जिम्मा एक्टर के मत्थे

सिद्धार्थ ने कहा, यह निर्भर करता है कि कितना उस एक्टर का फिल्म पर कंट्रोल है। एक बड़ा स्टार होता है, वे फिल्म को प्रोड्यूस भी करते हैं और क्रिएटिव भी उनके पास होता है तो वे जिम्मा ले सकते हैं। मेरे पास एक से अधिक डिपार्टमेंट नहीं होते हैं।

दिल्ली का हर लड़का बनना चाहता है हीरो 

सिद्धार्थ ने कहा, दिल्ली का हरेक लड़का फिल्में देखकर मोटिवेट होता और वह हीरो बनना चाहता है। मेरी किस्म्त ठीक थी मैंने काम शुरु किया और मौके मिलते चले गए तो हो गया। छोटे मैं तो मस्ती में करते थे, ‘खुदा गवाह’ का क्लाइमेक्स देखकर मैं आज भी एक्साइटेड हो जाता हूं।  


संबंधित विषय
ताजा ख़बरें