Advertisement

अब आईटी रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तारीख 30 नवंबर

वित्त वर्ष 2019-20 के लिए आईटी रिटर्न भरने की समय सीमा अब बढ़ाकर 30 नवंबर, 2020 कर दी गई है।

अब आईटी रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तारीख 30 नवंबर
SHARES
Advertisement

वित्त वर्ष 2019-20 के लिए आईटी रिटर्न भरने की समय सीमा अब बढ़ाकर 30 नवंबर, 2020 कर दी गई है।  वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रधान मंत्री द्वारा घोषित 20 लाख करोड़ रुपये के पैकेज पर विस्तार से चर्चा करते हुए कुछ महत्वपूर्ण घोषणाएं कीं।

उन्होंने कहा कि 31 जुलाई और 31 अक्टूबर को आईटी रिटर्न दाखिल करने की समय सीमा अब बढ़ाकर 30 नवंबर कर दी गई है।  साथ ही, परीक्षण रिपोर्ट प्रस्तुत करने की समय सीमा 30 सितंबर से बढ़ाकर 31 अक्टूबर कर दी गई है।  श्रमिक वर्ग को कर रिटर्न जमा करने के लिए एक विस्तार की आवश्यकता थी। फॉर्म -16 लेने वाले कर्मचारियों की समय सीमा 10 जून के बजाय 30 जून थी।  लेकिन तब कर्मचारियों को आईटी रिटर्न के लिए आवश्यक दस्तावेजों से मिलान करने के लिए केवल एक महीना बचा था।  इसलिए, यह उम्मीद की गई थी कि रिटर्न फाइलिंग को बढ़ाया जाएगा।

इसके साथ ही वित्त मंत्री ने कहा की रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए और ग्रामीण, आदिवसी इलाकों के लिए कैंपा फंड के तहत 6 हजार करोड़ रुपए का प्रावधान किया जाएगा। इससे पौधारोपण, हरियाली बढ़ाने जैसे काम किए जाएंगे। हाउजिंग सेक्टर को बढ़ावा देने के लिए 6-18 लाख रुपए की वार्षिक आमदनी वाले मिडिल क्लास के लिए 2017 में लाए गए हाउसिंग लोन सब्सिडी योजना को 31 मार्च 2021 तक बढ़ा दिया गया है। इसके लिए 70 हजार करोड़ रुपए का पैकेज दिया गया है। एक साल में 2.5 लाख लोग इसका फायदा लेंगे। इससे हाउजिंग सेक्टर को फायदा होगा और नई नौकरियां भी पैदा होंगी।

 

संबंधित विषय
Advertisement