BSNL और MTNL कर्मचारियों की निराशा भरी दिवाली

बीएसएनएल कर्मचारी संघ अपनी मांगों के लिए शुक्रवार को एक दिवसीय भूख हड़ताल करेंगे।

SHARE

बीएसएनएल और एमटीएनएल के कर्मचारी त्योहारी सीजन के दौरान वेतन का भुगतान नहीं करने और टेलीकॉम सेक्टर में सार्वजनिक उपक्रमों को बंद करने के सरकार के प्रस्तावित कदम के खिलाफ अपना विरोध दर्ज करेंगे। जहां एमटीएनएल के कर्मचारियों ने बुधवार शाम को इंडिया गेट से प्रधान मंत्री मोदी के निवास 7 लोक कल्याण मार्ग तक एक विरोध मार्च आयोजित करने का नोटिस दिया है, वहीं बीएसएनएल कर्मचारी संघ अपनी मांगों के लिए शुक्रवार को एक दिवसीय भूख हड़ताल करेंगे।

आजाद मैदान से गवर्नर हाउस तक कैंडल मार्च 

लगभग 22,000 एमटीएनएल कर्मचारियों का वेतन पिछले दो महीनों - अगस्त और सितंबर  का बकाया है, जबकि पिछले महीने के लगभग 1.58 लाख बीएसएनएल कर्मचारियों के वेतन का भुगतान अब तक नहीं किया गया है। एमटीएनएल कर्मचारी बुधवार शाम को इंडिया गेट से प्रधानमंत्री आवास तक कैंडल मार्च निकालेंगे। वे उसी समय मुंबई में आजाद मैदान से गवर्नर हाउस तक एक और कैंडल मार्च निकालेंगे। आपको बता दे की जुलाई महीने की सैलरी में भी कर्मचारियों को 20 दिन की देरी से मिली थी।  


बीएसएनएल-एमटीएनएल के सूत्रों के अनुसार, लगभग 1.8 लाख बीएसएनएल और एमटीएनएल कर्मचारियों को वेतन का भुगतान में देर हो सकती है क्योकी   केंद्र सरकार ने पिछले सप्ताह केंद्र सरकार के कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में 5% की वृद्धि की थी।इस कदम से प्रति वर्ष सरकारी खजाने पर 16,000 करोड़ रुपये का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा।


संबंधित विषय
ताजा ख़बरें