नेशनल एविएटर्स गिल्ड (एनएजी) ने जेट एयरवेज को जारी किया नोटिस

नोटिस में बकाया वेतन के भुगतान के लिये प्रबंधन को 14 अप्रैल तक का समय दिया है।

SHARE

भारी नकदी संकट से जूझ रही जेट एयरवेज को एक मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है।  समस्याओं में घिरी जेट एयरवेज के घरेलू पायलटों के संगठन नेशनल एविएटर्स गिल्ड (एनएजी) ने मंगलवार को एयरलाइन को नोटिस दिया है।   नोटिस में बकाया वेतन के भुगतान के लिये प्रबंधन को 14 अप्रैल तक का समय दिया है। इसके साथ ही  जेट एयरवेज की यहां से दैनिक उड़ानों की संख्या घटकर 32 रह गई है। 

मंगलवार को कंपनी ने यहां से मात्र 22 विमानों का ही परिचालन किया। मंगलवार को जेट ने मुंबई से केवल 22 विमानों का ही परिचालन किया। इससे उसकी यहां से कुल 32 उड़ानें ही परिचालित हो सकीं। इसमें 16 आगमन और 16 प्रस्थान उड़ानें रहीं। जेट एयरवेज के पायलटों के साथ इंजीनियर तथा वरिष्ठ कार्यकारियों को पिछले तीन महीने से वेतन नहीं मिला है। इसी कारण पिछले सप्ताह कंपनी के मालिकाना हक में बदलाव हुआ और बहुलांश हिस्सेदारी बैंकों के पास आ गई।

क्या है नोटिस में
एनएजी ने कानूनी नोटिस में कहा, ''कर्मचारियों ने जेट एयरवेज के प्रबंधन से बकाये वेतन के भुगतान के लिये 14 मार्च तथा आगे से वेतन भुगतान हर महीने की पहली तारीख करने को कहा है।  नोटिस में यरह भी कहा गया है की ''ऐसा नहीं होने पर कर्मचारी वेतन भुगतान को लेकर सभी संवैधानिक और कानूनी कदम उठाएंगे।" एनएजी ने दावा किया कि वह एयरलाइन के कुल 1,600 पायलटों में से 1,100 का प्रतिनिधित्व करता है।

यह भी पढ़े- गोरखपुर से मुंबई के लिए सीधी विमान सेवा शुरू

संबंधित विषय