कर रिफंड के लिए एसबीआई लाएगा नया लिफाफा, पैन नंबर जानना होगा मुश्किल


SHARE

एसबीआई ने अपने ग्राहको को कर रिफंड के चेक भेजने के लिए अब एक नया तरिका अपनाने की योजना बनाई है। एसबीआई ग्राहकों के पैन व मोबाइल फोन नंबर की गोपनीयता पूरी तरह सुनिश्चित करने के लिए अब कर रिफंड के लिए एक नया लिफाफा तैयार करने का फैसला लिया है। ग्राहको के मोबाइल नंबर और पैन कार्ड के बारे में गोपनियता बनाए रखने के लिए एसबीआई ने ये फैसला लिया है।


एसबीआई ने घटाई न्यूनतम बैलेंस की सीमा !


एक वेबसाईट पर छपी खबर के अनुसार एक कार्यकर्ता सेवानिवृत्त कमोडोर लोकेश बत्रा ने लगभग डेढ साल पहले यह मुद्दा उठाया था। उन्होंने कहा था कि एसबीआई द्वारा इस्तेमाल किए जा रहे लिफाफों से कोई भी संबंधित करदाता के पैन व फोन नंबर को पहचान सकता है। जिसके बाद इसका दुरुपोग भी आसानी से किया जा सकता है।


अब पेटीएम पर उधारी में ले सामान

बत्रा ने इस मुद्दे को रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल के समक्ष उठाया था। रिजर्व बैंक ने इस मुद्दे को एसबीआई के पास भेजा। जिसके बाद एसबीआई ने इन लिफाफो को नए सिरे से फिर से तैयार करेगा जिससे करदाताओं के मोबाइल नंबर और पैन संख्या दिखाई ना दे।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें