कपड़े बनानेवाली कंपनी रेमंड अब बनाएगी घर!

रेमेंड ने अब रियल स्टेट क्षेत्र में उतरने का फैसला किया है

SHARE

 टेक्सटाइल कंपनी रेमंड ने रिएल एस्टेट कारोबार में उतरने का ऐलान किया है।कंपनी ने मुंबई में पहली आवास परियोजना की शुरुआत की है जिससे उसे 3,500 करोड़ रुपये के राजस्व का अनुमान है। इसके लिए रेमंड रिएलिटी नाम से डिविजन बनाया गया है। कंपनी ने बुधवार को यह जानकारी दी। चेयरमैन और एमडी गौतम हरि सिंघानिया ने कहा कि शेयरधारकों के फायदे के लिए जारी कोशिशों के तहत यह फैसला लिया गया है। 

कंपनी मुंबई के थाणे में 14 एकड़ में आवासीय परियोजना विकसित करेगी। इसमें पहले चरण में तीन हजार अपार्टमेंट विकसित किये जाएंगे। पिछले एक दशक में टाटा, गोदरेज, महिंद्रा, बांबे डाइंग और इमामी ग्रुप जैसे बड़े कॉरपोरेट घराने रीयल एस्टेट क्षेत्र में उतर चुके हैं।रेमंड ने जानकारी दी है कि रिएल एस्टेट प्रोजेक्ट के पहले चरण में 3,000 घर बनाए जाएंगे। अगले 5 साल में कंपनी को 25% प्रॉफिट मार्जिन के साथ 3,500 करोड़ रुपए के बिजनेस की उम्मीद है। 

परियोजना के पहले चरण में 10 टावरों में तीन हजार आवासीय इकाइयां विकसित की जाएंगी। कंपनी ने कहा कि यह परियोजना पूरी तरह से नकदी वित्तपोषित होगी और इसके लिये खास कर्ज लेने की जरूरत नहीं होगी।टेक्सटाइल के अलावा रेमंड एफएमसीजी और इंजीनियरिंग सेगमेंट में भी बिजनेस करती है। लेकिन, इसकी असली पहचान टेक्सटाइल बिजनेस की वजह से ही है। देश के 400 शहरों में इसके 1,000 से ज्यादा स्टोर हैं।

यह भी पढ़े- जेट एयरवेज की बढ़ी मुश्किल , पायलटों ने किया विमान ना उड़ाने का फैसला

संबंधित विषय