पहली स्थाई समिति बैठक में गूंजा राशन का मुद्दा

 Mumbai
पहली स्थाई समिति बैठक में गूंजा राशन का मुद्दा

मुंबई- बीएमसी की पहली पहली स्थाई समिति की बैठक में बीजेपी , कांग्रेस और सपा के नगरसेवकों ने प्रशासम पर जमकर निशाना साधा। पहली बैठक में नालासफाई और अस्पतालों की साफ सफाई का मुद्दा इस बैठक में छाया रहा।
शुक्रवार को स्थाई समिति की पहली बैठक हुई। इस बैठक में बीएमसी अस्पतालों में तुर का दाल और आटे की बात ही छाई रही। कांग्रेस के गटनेता रवि राजा ने कहा की बीएमसी हर साल अस्पतालों के लिए करोड़ो के राशन खरिदती है , बावजूद इसके मरिजों के अच्छा खान पान नही मिल पाता है। रवि राजा ने मांग की है इन राशन के सामानों की जांच की जाए।

शिक्षण समिती अध्यक्ष शुभदा गुडेकर ने कहा की तांदुल और गेहू किस क्वालिटी का होगा इसकी भी जानकारी लोगों को होनी चाहिए। उन्होने कहा की तुर की दाल सुपर फाईन लॉन्ग राईस हो।साथ ही अस्पतालों में अच्छी दाल दी जाएगी।
रविराजा ने ये प्रस्ताव पावस करने की मांग की। साथ ही बीजेपी के मनोज कोटक,सपा के गटनेता रईस शेख ने भी इस प्रस्ताव को वापस लेने की मांग की। जिसके बाद समिती अध्यक्ष रमेश कोरगावकर ने इस प्रस्ताव को फिर से प्रशासन के पास भेज दिया है।
बीजेपी के मनोज कोटक और प्रभाकर शिंदे ने साथ मे नालेसफाई की जांच की भी मांग की।

स्थायी समिति में संगीत कुर्सी
स्थायी समिति सभा में शिवसेना के सदस्यों ने बीजेपी के सदस्यों से आगे बैठने के लिए उनसे पहेल ही आगे की कुर्सियों पर बैठ गए। बाद में जब बीजेपी के गटनेता अपने साथियों के साथ सभागृह में आए तो उन्होने अपने साथियों के साथ पिछें बैठना ही पसंद किया। बाद में वरिष्ठों के आग्रह पर मनोज कोटक आगे की सीट पर बैठे और सभी को क्रम से बैठाया गया।

Loading Comments