मुंबई शहर में 2704 इमारत गिरने की दुर्घटनाओं में कुल 234 लोगों की मौत 840 जख्मी !

मुंबई को भारत की आर्थिक राजधानी और सुरक्षित शहर कहा जाता है. परन्तु पिछले साढ़े पांच वर्षों में मुंबई शहर में कुल 2704 इमारत गिरने की दुर्घटनाओं में कुल 234 लोगों की मौत 840 जख्मी होने की जानकारी आरटीआय कार्यकर्ता शकील अहमद शेख को बृहन्मुंबई महानगरपालिका

SHARE

आरटीआय कार्यकर्ता  शकील अहमद शेख ने आपत्काल व्यस्थापन विभागा से सन 201३ से 2018 तक मुंबई शहर में कितनी ईमारत गिरने की घटनाये हुयी है।  इन दुर्घटनाओं में कितने लोगों की मौत हुईं है. एवं कितने लोग जख्मी हुए है इसकी जानकारी मांगी थी. इस सन्दर्भ में बृहन्मुंबई महानगरपालिका आपत्कालीन व्यस्थापन विभागाके सुचना अधिकारी तथा सहाय्यक अभियंता सुनील ने शकील  अहमद शेख को जानकारी सुचना अधिकार अधिनियम-2005 के अंतर्गत उपलब्ध कराई है. जानकारी के अनुसार सन 2012 से जुलाई 2018 तक कुल 2704 इमारत गिरने की  दुर्घटना हुई हैं जिसमे  234 लोगो की मृत्यु और 840 लोग जख्मी हुए हैं।

वर्षानुसार घटनाएँ

2013 में कुल 531 ईमारत गिरने की दुर्घटनाओ में कुल 101 लोगों की  मौत हुई है जिसमे 58 पुरुष आणि 43 स्त्रियों का समावेश है और कुल 183 लोग जख्मी हुए है. जिसमें 110 पुरुष तथा 73 स्त्रियों का समावेश है.

2014 में कुल 343 ईमारत गिरने की दुर्घटनाओ में कुल 21 लोगों की  मौत हुई है जिसमे 17 पुरुष आणि 4 स्त्रियों का समावेश है और कुल 100 लोग जख्मी हुए है. जिसमें 62 पुरुष तथा 38 स्त्रियों का समावेश है.

2015 में कुल 417 ईमारत गिरने की दुर्घटनाओ में कुल 15 लोगों की  मौत हुई है जिसमे 11 पुरुष आणि 4 स्त्रियों का समावेश है और कुल 120 लोग जख्मी हुए है. जिसमें 79 पुरुष तथा 41 स्त्रियों का समावेश है.

2016 में कुल 486 ईमारत गिरने की दुर्घटनाओ में कुल 24 लोगों की  मौत हुई है जिसमे 17 पुरुष आणि 7 स्त्रियों का समावेश है और कुल 171 लोग जख्मी हुए है. जिसमें 113 पुरुष तथा 59 स्त्रियों का समावेश है.

2017 में कुल 568 ईमारत गिरने की दुर्घटनाओ में कुल 66 लोगों की  मौत हुई है जिसमे 44 पुरुष आणि 22 स्त्रियों का समावेश है और कुल 165 लोग जख्मी हुए है. जिसमें 101 पुरुष तथा 64 स्त्रियों का समावेश है.

2018 से जुलाई 2018 तक 359 ईमारत गिरने की दुर्घटनाओ में कुल 7 लोगों की मौत हुई है जिसमे 5 पुरुष आणि 2 स्त्रियों का समावेश है और कुल 100 लोग जख्मी हुए है. जिसमें 73 पुरुष तथा 27 स्त्रियों का समावेश है.

आरटीआय कार्यकर्ता शकील अहमद शेख के अनुसार जितनी मौते आतंकवादी घटनाओ में नहीं हुए है उससे ज्यादा मुंबई इमरत गिरने से मौते हुई इस सन्दर्भ में आरटीआय कार्यकर्ता  शकील अहमद शेख ने मनपा आयुक्त अजॉय मेहता और प्रभात रहांगदले को पत्र लिखकर आपातकाल दुर्घनाओ पर जल्द से जल्द काबू के लिए ठोस कदम एवं व्यवस्था की मांग की है.

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें