बीएमसी के इतिहास में पहली बार सहायक आयुक्त हुआ निलंबित

 BMC
बीएमसी के इतिहास में पहली बार सहायक आयुक्त हुआ निलंबित

घाटकोपर के ‘एन’ विभाग में अवैध निर्माण और संरक्षण को लेकर सहायक आयुक्त सुधांशू दि्वेदी को बीएमसी कमिशनर अजॉय मेहता ने निलंबित कर दिया।

किसी भी सहायक आयुक्त को निलंबित करने को लेकर बीएमसी के इतिहास की यह पहली घटना है। अवैध निर्माण को लेकर और उसके संरक्षण को लेकर कार्रवाई करने की चेतावनी अजॉय मेहता ने पहले भी कई बार दी थी। लेकिन कई बार शिकायत मिलने पर आखिरकार दि्वेदी को इस कार्रवाई का सामना करना पड़ा।  

पालिका के नियम के अनुसार किसी भी अधिकारी को उसके द्वारा किये गये कार्य की जानकारी संबंधित सीनियर अधिकारी को देनी होती है, लेकिन बीएमसी के अन्य उपायुक्त नरेंद्र बर्डे द्वारा की गयी जांच में पाया गया कि दि्वेदी ने अपने कार्य की आधी अधूरी जानकारी दी थी। दि्वेदी ने अपने ईलाके में कई अवैध निर्माणों को मंजूरी दी थी और कई अवैध निर्माणों का संरक्षण भी का रहे थे।

बीएमसी कमिश्नर अजॉय मेहता ने कह कि सुधांशु दि्वेदी की आपराधिक पृष्ठभूमि होने की भी संभावना है इसकी जांच चल रही है।

Loading Comments