BKC ही नहीं इन इलाकों की हवा भी है 'बहुत ही खराब'

स्थिति को गंभीरता को देखते हुए अभी हाल ही में MMRDA ने घोषणा की कि, BKC इलाके में प्रदूषण फैलाने वाले पर 5 हजार रुपया जुर्माना वसूला जाएगा।

SHARE

 

मुंबई की हवा बद से बदतर होती जा रही है। उपनगरों का भी बुरा हाल है। हवा की गुणवत्ता पर नजर रखने वाली संस्था SAFAR (System of Air Quality and Weather Forecasting And Resear) ने अभी हाल ही में एक रिपोर्ट जारी की थी जिसमें मुंबई की हवा को काफी प्रदूषित बताय गया था। जिसमें बीकेसी को सबसे अधिक प्रदूषित करार दिया गया था। बीकेसी सहित अंधेरी और बोरीवली की स्थिति को दयनीय बताया गया। स्थिति को गंभीरता को देखते हुए अभी हाल ही में MMRDA ने घोषणा की कि, BKC इलाके में प्रदूषण फैलाने वाले पर 5 हजार रुपया जुर्माना वसूला जाएगा। 

रिपोर्ट में मुंबई के उपनगरों का भी हाल बहुत अच्छा नहीं बताया गया है। बोरीवली, अंधेरी, बीकेसी, चेंबूर, वर्ली, मझगांव जैसे इलाकों में हवा के स्तर में प्रदूषण दर्ज किया गया। इसमें भी  सबसे गंभीर समस्या बीकेसी की है। रिपोर्ट के अनुसार बीकेसी में चल रहे निर्माण कार्य प्रदूषण की मुझी वजह है।

SAFAR की वेबसाइट पर हर इलाके की हवा में प्रदूषण के स्तर का आंकड़ा दर्ज है। इसमें बताया गया है कि दिसंबर महीने में 23 दिन तक बीकेसी की हवा का प्रदूषण का स्तर काफी निम्न स्तर पर आ गया था। ऐसा 17 बार हुआ है जब बीकेसी की हवा में सूक्ष्म प्रदूषण के कणों की मात्रा 200 पार्टिक्युलेट मैटर (PM) से अधिक दर्ज की गयी हो और 3 बार यह स्तर 300 पार्टिक्युलेट मैटर (PM) तक पहुंचा है।

आपको बता दें कि प्रदूषण में कमी लाने के लिए महाराष्ट्र प्रदूषण नियंत्रण मंडल ने स्वच्छ हवा के लिए एक योजना बनाई थी, लेकिन केंद्र सरकार ने इन योजना को दो बार लौटा दिया, लेकिन तीसरी बार बनाने पर अब केंद्र सरकार ने स्वीकार किया है। इसके बावजूद विशेषज्ञ इस योजना पर सवाल उठाते हुए इसे अपूर्ण बता रहे हैं। 

इलाकों की हवा में पार्टिक्युलेट मैटर (पीएम)

इलाका पार्टिक्युलेट मैटर (पीएम)
रिजल्ट 
बोरीवली 
३०५ 
बहुत ही खराब 
मालाड 
२९१ 
खराब 
भांडुप 
१३२ 
मध्यम
अंधेरी 
३०३ 
बहुत ही खराब 
बीकेसी 
३०६ 
बहुत ही खराब 
चेंबूर 
२२८ 
खराब
वरळी 
२४७ 
खराब
माझगाव 
२३५ 
खराब
कुलाबा १३५ 
मध्यम
  • नवी मुंबई 
  • २४९ 
    खराब
    संबंधित विषय
    ताजा ख़बरें