Advertisement

कोरोना के कारण हुई बीएमसी के सहायक आयुक्त अशोक खैरनार की मृत्यु

57 वर्षीय अशोक खैरनार को एक सप्ताह पहले कोरोना से संक्रमित पाये गए थे

कोरोना के कारण हुई बीएमसी के सहायक आयुक्त अशोक खैरनार की मृत्यु
SHARES

कोरोना से जंग लड़ रही बीएमसी वने अपना एक और सिपाही खो दिया है। बीएमसी के सहायक आयुक्त अशोक खैरनार की मृत्यु कोरोना के कारण हुई । अशोक खैरनार बांद्रा पूर्व में एच ईस्ट डिवीजन के वार्ड अधिकारी थे। 57 वर्षीय अशोक खैरनार को एक सप्ताह पहले कोरोना से संक्रमित पाया  गया था, जिसके बाद गुरुनानक अस्पताल और बाद में सेवन हिल्स अस्पताल में इलाज किया गया। उन्हें कल फोर्टिस अस्पताल ले जाया गया था, लेकिन आज दोपहर उनकी मृत्यु हो गई।

कोरोना के मरीजों को काबू पाने में पाई सफलता

अशोक खैरनार ने बांद्रा पूर्व में एच ईस्ट में प्रयास किया, जहां रोगियों की संख्या शुरू में बढ़ी। खैरनार के प्रयासों के कारण, मुंबई में सबसे कम विकास दर उनके एच ईस्ट वार्ड में थी। उन्होंने रोगियों की वृद्धि दर को रोकने के साथ-साथ दोहरीकरण दर को बढ़ाने में सफलता प्राप्त की थी। मातोश्री क्षेत्र, जो मुख्यमंत्री का निवास स्थान है, एच ईस्ट डिवीजन में पड़ता है।एच ईस्ट वार्ड, जिसमें बांद्रा पूर्व और खार शामिल हैं, की आबादी 6 लाख से अधिक है। इस सेक्शन के 78 फीसदी हिस्से पर झुग्गियों का कब्जा है।

मरीजों के दोहरीकरण दर पर भी पाया काबू

बेहरामपाड़ा, गोलिबार, शास्त्रीनगर, भरतनगर, वकोला घनी आबादी वाले हैं। इस क्षेत्र में कोरोना को नियंत्रित करना सबसे बड़ी चुनौती थी। एच ईस्ट डिवीजन में मरीजों की संख्या 3700 का आंकड़ा पार कर गई। हालांकि, इनमें से लगभग 2800 मरीज ठीक होकर घर लौट आए हैं। मुंबई में एच ईस्ट की दैनिक रुग्णता दर सबसे कम 0.5 प्रतिशत है। इसलिए मरीजों की संख्या दोगुनी होने की दर सौ दिनों से अधिक है। वर्तमान में यह अवधि 134 दिनों तक पहुंच गई है।

इससे पहले, नगर उपायुक्त शिरीष दीक्षित की भी कोरोना के कारण मृत्यु हो गई थी। इसके अलावा, अब तक,बीएमसी के 100 से अधिक कर्मचारी कोरोना द्वारा मारे गए हैं।

यह भी पढ़ेमुंबई में एक लाख के करीब पहुंचीं कोरोना मरीजों की संख्या

Read this story in मराठी or English
संबंधित विषय