Advertisement

मुंबई के बाहर प्राइवेट अस्पतालों में वैक्सीनेशन सेंटर कैंप आयोजित करने पर BMC ने लगाई पाबंदी

चहल ने कहा, टीकाकरण अभियान का राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए। इसलिए गलती करने वाले निजी केंद्र को कारण बताओ नोटिस जारी किया जाएगा

मुंबई के बाहर प्राइवेट अस्पतालों में वैक्सीनेशन सेंटर कैंप आयोजित करने पर BMC ने लगाई पाबंदी
SHARES

बृहन्मुंबई महानगर पालिका (Brihanmumbai Municipal Corporation) ने मुंबई (mumbai) के बाहर निजी अस्पतालों के बाहर, कॉर्पोरेट्स या हाउसिंग सोसाइटियों द्वारा टीकाकरण शिविर (vaccination center) आयोजित करने से रोक दिया है। नया आदेश जारी करते हुए, बीएमसी (bmc) प्रमुख ने कहा कि, निजी अस्पतालों को निजी टीकाकरण अभियान के दौरान राजनीतिक दलों या राजनेताओं के नाम सार्वजनिक करने के खिलाफ चेतावनी दी भी गई है।

इस बारे में BMC कमिश्नर इकबाल सिंह चहल (iqbal singh chahal) ने कहा कि, अगर कोई अस्पताल अपनी एम्बुलेंस को कैंप में पार्क करता है, तो प्रतिकूल घटना की स्थिति में उसे दूसरे जिले के अस्पताल में वापस जाना होगा। उन्होंने कहा कि यह एईएफआई के त्वरित प्रबंधन के उद्देश्य को विफल कर देगा।

BMC द्वारा यह निर्देश कई बड़े हाउसिंग सोसाइटियों में राजनेताओं द्वारा टीकाकरण शिविर आयोजित करने के मद्देनजर आया है।

चहल ने कहा, टीकाकरण अभियान का राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए। इसलिए गलती करने वाले निजी केंद्र को कारण बताओ नोटिस जारी किया जाएगा और पूछा जाएगा कि जैब (jab) देने की उनकी अनुमति रद्द क्यों नहीं की जानी चाहिए?

इसके अलावा, बीएमसी को यह भी रिपोर्ट मिली है कि, कुछ राजनेताओं द्वारा टीकाकरण शिविर आयोजित करने में मदद कर रहे है और कैंपसाइट पर अपने बैनर लगाए हैं, चाहे भले ही प्राप्तकर्ता द्वारा जैब प्राप्त करने के लिए भुगतान किया जाता हो।

इसके अलावा, नए सर्कुलर में उल्लेख किया गया है कि, निजी अस्पतालों को एक कॉर्पोरेट कार्यालय या हाउसिंग सोसाइटी के साथ एक समझौता ज्ञापन (MoU) पर हस्ताक्षर करने और प्रत्येक टीकाकरण अभियान से पहले बीएमसी में पंजीकरण कराना आवश्यक होगा।

इससे पहले, मई के पहले सप्ताह में जारी किए गए बीएमसी के विस्तृत दिशानिर्देशों में यह भी कहा गया था कि, यदि आवश्यक हो तो, निजी केंद्रों में एईएफआई के प्रबंधन के लिए एनाफिलेक्सिस किट और लाभार्थियों को स्थानांतरित करने के लिए एक बुनियादी जीवन रक्षक एम्बुलेंस, होना चाहिए।

यह भी पढ़ें : 'स्पूतनिक V' वैक्सीन मुंबईकरों के लिए हुई उपलब्ध

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें