बर्फ पर मनपा की कार्यवाही

Mumbai
बर्फ पर मनपा की कार्यवाही
बर्फ पर मनपा की कार्यवाही
बर्फ पर मनपा की कार्यवाही
See all
मुंबई  -  

गर्मी से बचने के लिए अगर आप भी सड़क किनारे लगे ठेले या दुकानों से बर्फ के गोले, जूस, बर्फ का पानी आदि की ओर रुख करते हैं तो संभल जाएं। हाल ही में बीएमसी स्वास्थ्य विभाग ने गर्मी के दिनों में तेजी से बिकने वाले बर्फ के उत्पादों की गुणवत्ता जानने के लिए जूस की दुकान, रेस्तरां, गोले की दुकान आदि जगहों से बर्फ के सैम्पल लिए थे। जांच में 70 प्रतिशत सैंपल ई-कोलाय बैक्टीरिया से युक्त पाए गए। ये बैक्टीरिया पेट संबंधी कई बीमारियों के लिए जिम्मेदार हैं। लोगों को इन बीमारियों से दूर रखने के लिए बीएमसी ने ऐसे बर्फ के उत्पादों से दूर रहने की सलाह दी है।

हर साल गर्मी आते ही मुंबई महानगर में पेट से संबंधित बीमारियों में बढ़ोतरी होने लगती है। बीएमसी ने मार्च और अप्रैल में दुकानों, रेस्ट्रॉन्ट और अन्य जगहों से बर्फ के सैकड़ों सैम्पल लिए। जांच में इन्हें बैक्टीरिया युक्त पाया गया, जो कई तरह की बीमारियों के लिए जिम्मेदार हैं।

बीएमसी स्वास्थ्य विभाग की कार्यकारी अधिकारी डॉ. पद्मजा केसकर ने कहा कि मार्च-अप्रैल में हमने मुंबई में जगह-जगह से बर्फ और उससे बनने वाले उत्पादों के सैम्पल लिए हैं, जो जांच में अनफिट पाए गए हैं। प्राप्त सैम्पल्स में 70 प्रतिशत तक अस्वस्थ्य पाए गए हैं, इनसे लोगों में बीमारियां फैलने की काफी संभावनाएं हैं।
बीएमसी ने सड़क पर खुले में बिकने वाली बर्फ के खिलाफ मुहिम छेड़ रखा है। बी एम सी के मुताबिक जांच में ऐसे बेर्फो में ई कोलाय के जीवाणु पाये गये। बीएमसी इस अभियान के तहत अब तक 1 लाख 20 हजार किलो बर्फ नष्ट कर चुकी है।

Loading Comments

संबंधित ख़बरें

© 2018 MumbaiLive. All Rights Reserved.