महापरिनिर्वाण दिवस के लिए बीएमसी ने की खास तैयारियां

बीएमसी ने चैत्यभूमि, शिवाजी पार्क, दादर रेलवे स्टेशन, राजगृह (हिंदू कॉलोनी), बाबासाहेब अम्बेडकर कॉलेज (वडाला) और लोकमान्य तिलक टर्मिनस में अस्थायी कमरे, स्वास्थ्य सेवा, चल शौचालय आदि जैसी बुनियादी सुविधाओं की व्यवस्था की है।

SHARE

बीएमसी ने उन लोगों के लिए आवश्यक नागरिक सुविधाएं प्रदान करने की तैयारी की है, जो बड़ी संख्या में शहर में भारतीय संविधान की वास्तुकला के लिए अपनी श्रद्धांजलि देने के लिए आएंगे। बीएमसी ने चैत्यभूमि, शिवाजी पार्कदादर रेलवे स्टेशन, राजगृह (हिंदू कॉलोनी), बाबासाहेब अम्बेडकर कॉलेज (वडाला) और लोकमान्य तिलक टर्मिनस में अस्थायी कमरे, स्वास्थ्य सेवाचल शौचालय आदि जैसी बुनियादी सुविधाओं की व्यवस्था की है।

10,000 लोगों के आवास के लिए सभी आवश्यक प्रबंध

डॉ.बाबासाहेब अम्बेडकर को श्रद्धांजलि देने के लिए देश के  अलग अलग हिस्सों से बड़ी संख्या में लोग आते हैं। बीएमसी ने शिवाजी पार्क में सात नागरिक स्कूलों में अस्थायी व्यवस्था की है। लगभग 10,000 लोगों के आवास के लिए सभी आवश्यक प्रबंध किए गए हैं। शिवाजी पार्क में सभी बुनियादी सुविधाओं से सुसज्जित टेंट, वीआईपी कमरे और नियंत्रण कक्ष बनाए गए हैं। चैत्यभूमि प्रवेश द्वार के पास और सूर्यवंशी सभागार मार्ग पर तीन स्थानों पर स्वास्थ्य शिविर भी लगाए गए हैं।

1
लाख वर्गफुट के क्षेत्र में अस्थायी आश्रयों की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा, पार्क मैदान और आसपास के क्षेत्रों में 180 मोबाइल शौचालय स्थापित किए गए हैं। जमीन पर कम से कम 380 अस्थायी पेयजल पाइपलाइनें स्थापित की गई हैं। बीएमसी पीआरओ ने कहा कि डॉ. आंबेडकर की जीवन यात्रा पर प्रकाशित पुस्तकों का अनावरण किया जाएगा और लाख प्रतियां मुफ्त में वितरित की जाएंगी।

 इस वर्ष की सूचना पुस्तिका 5 दिसंबर को दादर (पश्चिम) के शिवाजी पार्क में महापौर किशोरी पेडनेकर द्वारा जारी की जाएगी।

यह भी पढ़े- महाराष्ट्र विधानसभा के शीतकालिन सत्र के पहले प्रधानमंत्री से मुलाकात करेंगे उद्धव ठाकरे

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें