Advertisement

बीएमसी बढ़ा सकती है फेरीवालों के चार्जेस

हालांकी बीएमसी के इस नये प्रस्ताव को फेरीवालों ने विरोध किया है

बीएमसी बढ़ा सकती है फेरीवालों के चार्जेस
SHARES

राजस्व में कमाी को बढ़ाने के लिए बीएमसी आनेवाले समय में फेरिवालों से ली जानेवली चार्जेस को बढ़ा सकती है।   वर्तमान में, निगम एक नई हॉकर नीति पर काम कर रहा हैजहां शहर के लाइसेंस प्राप्त फेरीवालों को जगह  आवंटित की जाएंगी और एक बार जगहको आवंटित करने के बाद, फेरीवालों को नए टैरिफ लगाए जाएंगे। प्रस्तावित टैरिफ के अनुसार, मोबाइल फेरीवाले से एक महीने के बजाय रु 50 का शुल्क लिया जाएगा, जबकि ठेले वाले फेरीवालों से रु .70 के बदले रु 140 मासिक लिया जाएगा। फुटपाथों पर दिए गए हॉकरों को 270 रुपये का भुगतान करना होगा, जबकि लाइसेंस वाले स्टॉल वाले महीने में 1,500 रुपये का भुगतान करेंगे।

बीएमसी के लाइसेंस विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि बढ़ोतरी से सालाना राजस्व में कम से कम 10 करोड़ रुपये की वृद्धि होगी। उन्होंने उल्लेख किया कि शरीर अवैध फेरीवालों को प्रतिबंधित करेगा जो फुटपाथों पर अतिक्रमण की ओर जाता है। नई नीति के तहत, बीएमसी 15,000 से अधिक फेरीवालों को हॉकिंग पिच आवंटित करेगी। 

लाइसेंस प्राप्त फेरीवालों की प्रामाणिकता की जांच करने के लिए जमीनी स्तर के सर्वेक्षण भी किया जाएगा। अवैध फेरीवालों को हटाया जाएगा और कानूनी कार्रवाई की जाएगी। मुंबई महानगरपालिका की नई फेरीवालों की नीति के अनुसार, फेरीवालों को उनका फेरी लगाने के लिए कुछ स्थान निश्चित किए गये हैं, इन स्थानों में वह स्थान भी शामिल है जहां मनसे का मुख्यालय राजगढ़ भी स्थित है। बीएमसी के नए नियम के मुताबिक राजगढ़ के सामने वाली सड़क पर भी लगभग 100 फेरीवाले अपना अपना धंदा लगा सकते हैं।

Read this story in मराठी
संबंधित विषय