कचरा अलग करने में विफल रहे सोसायटी को बीएमसी करेगी बहिष्कार

 CST
कचरा अलग करने में विफल रहे सोसायटी को बीएमसी करेगी बहिष्कार

बीएमसी द्वारा दिए गए चेतावनियों के बावजूद, अधिकांश मुंबईकर्स अपने कचरे को अलग नहीं करते। जनवरी महीने से, बीएमसी ने 35,000 नोटिस सोसायटियों को भेजे थे। बावजूद इसके कई सोसायटियां आज भी कचरे का वर्गीकरण नहीं करती। जिसे देखते हुए बीएमस ने अब उन सोसायटियो के बहिष्कार करने का निर्णय लिया है जो कचरे का वर्गीकरण नहीं करती।

अकेले मुंबई में, 9,000 टन का कचरा उत्पन्न होता है , और इसे देवनार, मुलुंड और कांजूर मार्ग के डंपिंग ग्राउंड में फेंक दिया जाता है। इनमें से, मुलुंड और देवनार डंपिंग ग्राउंड में कम जगह है। इस बीच, तलोजा और ऐरोली में डंपिंग ग्राउंड का निर्माण किया जा रहा है। बीएमसी ने स्वछाता अभियान की शुरुआत भी की, लेकिन उससे कुछ खास फर्क नहीं पड़ा।

बीएमसी ने 250 लीटर मूल्य के दो कूड़ेदान के दिए। इसके साथ ही, नगसेवको के लिए 10 लीटर के दो करचापेटियों का वितरण किया गया। इसके अलावा, अलग-अलग दो कचरे के डिब्बे को निवासियों के लिए सड़कों पर रखा गया है।

वार्ड औऱ नोटिस
एच / वेस्ट (बांद्रा सांताक्रूज वेस्ट) - - 5328
आर / सेंट्रल (बोरिवली) - 4771
जी / दक्षिण (प्रभादेवी, वरली, लोअर परेल) - 3365
जी / उत्तर (दादर, माहिम, धारावी) - 2345
एच / ईस्ट (बांद्रा से सांताक्रूज़ पूर्व) - 1 972


डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दे) 

Loading Comments