सौ फीसदी नाले सफाई के दावे को बीजेपी ने बताया सबसे बड़ा 'मजाक'

 BMC
सौ फीसदी नाले सफाई के दावे को बीजेपी ने बताया सबसे बड़ा 'मजाक'

नालों की सफाई को लेकर बीएमसी खुद ही सवालों के घेरे में घिरती जा रही है। बीएमसी का यह दावा है कि उसने मानसून से पहले ही 94 फीसदी नालों की सफाई कर ली है और उपनगरीय नालों की सफाई 100 फीसदी पूरी हो चुकी है। मतलब मानसून के पहले नालो की सफाई का जो 60 फीसदी का आंकड़ा है उसे बीएमसी ने पूरी तरह से 100 फीसदी में बदल दिया। लेकिन सवाल यह उठता है कि अगर नालों की सफाई पूरी तरह से हो चुकी है तो मुलुंड, घाटकोपर सहित अन्य भागो में जो नाले कचरे से भरे हुए हैं उसके बारे में बीएमसी का क्या बोलना है? बीएमसी के अनुसार मुंबई शहर, पूर्व और पश्चिम उपनगर के नालों की सफाई 94.31% होने की दावा बीएमसी प्रशासन कर रहा है। शहर के नाले सफाई का कार्य 93.73%, पश्चिम उपनगर के 91.39% और पूर्व उपनगर में 100 % नालासफाई का कार्य पूरा हो चूका है। साथ ही बीएमसी ने यह भी दावा किया है कि मीठी नदी की सफाई का कार्य भी 90.83% पूर्व हो गया है।

दी दिन पहले महापौर विश्वनाथ महाडेश्वर, स्थायी समिती अध्यक्ष रमेश कोरगावकर, सभागृहके नेता यशवंत जाधव, सुधार समिती अध्यक्ष बाला नर सहित अन्य अधिकारीयों ने पूर्व उपनगर के नालों की सफाई का जायजा लिया था। इन पदाधिकारियों ने नालों में जमा कचरों और नालों के बगल जमा किए गए नालों के सिल्ट को हटाने का आदेश दिया गया था।

पूर्व उपनगर के नालों की सफाई का कार्य से और बीएमसी द्वारा 100 फीसदी नालों की सफाई के दावे से बीजेपी के गुटनेता मनोज कोटक भी नाराज हैं।उन्होंने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए इतना ही कहा कि 'यह मजाक है'। मनोज कोटक कहते हैं कि नालो के किनारे अभी तक सिल्ट का कचरा हटाया गया नहीं है। अगर 100 फीसदी नाले की सफाई का दावा बीएमसी करती है तो इससे बड़ा मजाक और दूसरा नहीं हो सकता। कोटक आगे कहते हैं कि अब तो महापौर और अन्य लोगो ने भी नाला सफाई का जायजा देख लिया है, अब अगर मानसून में मुंबई में जल भराव की स्थिति आती है तो इसका जवाबदार वे ही लोग होंगे। कोटक सवाल उठाते हुए कहते हैं कि अगर यह लोग ऐसा कहता है तो हम किस पर विश्वास करें।

स्थायी समिति के अध्यक्ष रमेश कोरगांवकर कहते हैं कि दावा करने के बाद भी अगर नालों की सफाई नहीं हुई है तो हम उसे जरुर कराएंगे, लेकिन यह कहना कि नालों की सफाई नहीं हुई ही नहीं है, यह ठीक नहीं है। कोरगांवकर आगे कहते हैं कि सत्ता पक्ष होने के नाते हमें हमारी जिम्मेदारी पता है। इसके लिए हमें किसी से कुछ पूछने की जरूरत नहीं है।


डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दे) 





Loading Comments