बीएमसी कर्मचारियों को मिला आश्वासन, नहीं करेंगे हड़ताल!

बीएमसी कर्मचारियों ने ह बायोमेट्रिक उपस्थिति प्रणाली, सातवें वेतन आयोग समझौते और समूह बीमा पॉलिसी के बारे में उनकी मांगें पूरी नहीं होने पर हड़ताल की धमकी दी थी

SHARE

बीएमसी कर्मचारियों ने अपनी मांगे पूरी ना होने के कारजो हड़ताल की धमकी दी थी उसे अब वापस ले लिया है।  बीएमसी  के कर्मचारियों ने अपनी अलग अलग लंबित मांगों के लिए मुंबई के आजाद मैदान में आंदोलन किया। मांगों को पूरा करने के लिए, आंदोलन के दौरान कर्मचारियों ने जोरदार नारे भी लगाए। प्रशासन ने कर्मचारियों के इस आंदोलन पर ध्यान दिया और सकारात्मक आश्वासन दिया। 

प्रशासन से आश्वासन मिलने के बाद अब बीएमसी कर्मचारियों ने इस आंदोलन को रोक दिया है और हड़ताल की चेतावनी को वापस ले लिया है। बीएमसी कमिश्नर  प्रवीण परदेशी के साथ 6 वें वेतन आयोग के एवज में गणेशोत्सव से पहले 8 प्रतिशत की राशि का भुगतान किया जाएगा। साथ ही अन्य मांगों को भी जल्द हल किया जाएगा, आयुक्त ने आश्वासन दिया।

काम बंद आंदोलन
कर्मचारियों की समन्वय समिति ने चेतावनी दी थी कि यदि बीएमसी के कर्मचारियों की मांगों की अनदेखी की गई तो कर्मचारी किसी भी समय काम बंद आंदोलन कर सकते है।   सैकड़ों कर्मचारियों ने बुधवार को आजाद मैदान में प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन किया। हालांकि, इस आंदोलन के दौरान, समन्वय समिति का एक प्रतिनिधिमंडल बीएमसी कमिश्नर से मिला। बीएमसी कमिश्नर के साथ बीएमसी कर्मचारी प्रतिनिधी मंडल की चर्चा सकारात्मक रही। 


7वें वेतन आयोग  के करार के अनुसार पूरे बाकी रकम का 20 फिसदी हिस्सा फरवरी के पहले हफ्ते में दे दिया गया था।  जिसके बाद दूसरा हफ्ता गणेशोत्सव के पहले दिया जाएगा।  1 अगस्त 2017 से इलाज के लिए पैसे खर्च करनेवाले कर्मचारियों को दो लाख तक के बिल जमा करने होंगे। जिसके बाद उनके बिल पर 15 दिनों के अंदर निर्णय लेकर उनका भूगतान किया जाएगा।  बायोमेट्रिक उपस्थिति में त्रुटियों को जल्द ही ठीक किया जाएगा। 

यह भी पढ़ेतीसरे दिन भी बेस्ट कर्मचारियों का आंदोलन शुरु

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें