पुरुषों को नपूंसक कहना बदनामी करने जैसा- बॉम्बे हाईकोर्ट

हाईकोर्ट ने कहा की नंपूंशक पुरुषों को बदनाम करने जैसा है और इसपर सजा जैसा मामला दर्ज हो सकता है।

SHARE

बॉम्बे हाईकोर्ट ने एक मामले में फैसला फैसला सुनाते हुए कहा की पुरुषों को नपूंसक कहना बदनामी करने जैसा है और इसपर जा देने जैसा मामला भी दर्ज हो सकता है। हाईकोर्ट के इस फैसले के बाद अब अगर आप किसी को नपूंसक कहते है तो ये आप के लिए काफी खतरनाक साबित हो सकता है।

क्या है मामला
आंध्र प्रदेश की एक महिला ने तलाक के लिए एक अर्जी दाखिल की थी। महिला का कहना था की उसका पति हर तरह से नपूंसक था। पत्नी की ये बात पति को काफी बूरी लगी और उसने नागपुर मजिस्ट्रेट अदालत में पत्नी के खिलाफ मामला दर्ज करा दिया। अपने खिलाफ दर्ज मामले को खत्म कराने के लिए महिला ने बॉम्बे हाईकोर्ट में याचिका दी।


हालांकी हाईकोर्ट ने महिला की किसी भी बात को सूनने से इंकार कर दिया और महिला को बताया की पुरुषों को किसी भी रुप में नपूंसक बोलना उनकी बदनामी करने जीतना बराबर है।

यह भी पढ़ेअक्षय कुमार को एसआईटी ने भेजा समन, 21 नवंबर को होंगे पेश

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें