Coronavirus Pandemic: पुलिस नागरिकों पर अनावश्यक बल का प्रयोग न करे- DGP सुबोध जायसवाल

जायसवाल ने कहा कि लोग अपने परिवारों के लिए आवश्यक सामान खरीदने के लिए सड़कों पर निकल सकते हैं, या कुछ आपात स्थिति भी हो सकती हैं।

Coronavirus Pandemic: पुलिस नागरिकों पर अनावश्यक बल का प्रयोग न करे- DGP सुबोध जायसवाल
SHARES


लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर पुलिस द्वारा नागरिकों की पिटाई के कई वीडियो और घटनाओं के मद्देनजर, महाराष्ट्र के डीजीपी यानी डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस सुबोध कुमार जायसवाल ने विभाग के अन्य अधिकारियों और कर्मचारियों को आदेश दिया है कि वे लॉकडाउन के दौरान नागरिकों के साथ अधिक सख्ती के साथ पेश न आएं।

जायसवाल ने कहा कि लोग अपने परिवारों के लिए आवश्यक सामान खरीदने के लिए सड़कों पर निकल सकते हैं, या कुछ आपात स्थिति भी हो सकती हैं।  

गौरतलब है कि लॉकडाउन के दौरान पुलिस की बर्बरता कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए हैं, जिसमें पुलिसकर्मी सड़कों पर पैदल चलने वालों और बाइकर्स को मारते हुए दिख रहे हैं।

पुलिस द्वारा हिंसा की यह शिकायत सीएमओ तक पहुंची। जिसमें कई लोगों ने यह कहा कि, वे जरूरी सामान खरीदने के लिए बाहर निकले हैं, यह बात पुलिस को बताने पर भी उनकी पिटाई की गई।  इसके साथ ही, आवश्यक सेवाओं में काम करने वाले कुछ कर्मचारियों ने भी शिकायत की कि जब वे आवश्यक काम के कारण अपनी ड्यूटी पर जा रहे थे तभी पुलिस द्वारा उन्हें पीटा गया।

सूत्रों के अनुसार लगातार मिलती शिकायत के बाद सीएम उद्धव ठाकरे ने डीजीपी को फोन किया और स्थिति को पुलिस जिस तरह से संभाल रही है उस तरीके के प्रति निराशा व्यक्त की। 

 सीएम ने पुलिस द्वारा नागरिकों पर बरती जाने वाली सख्ती को रोकने के लिए कहा, और उन्होंने पुलिस प्रमुख को भेजे गए एक संदेश में कहा कि, पुलिस सड़कों पर देखे जाने वालों को संदेह का लाभ दें। उनके प्रति सहानुभूति रखें, और उनसे केवल पूछताछ करें।

जायसवाल ने टीओआई को बताया कि उन्होंने अब सभी पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे नागरिकों पर अनावश्यक बल का प्रयोग न करें।  उन्होंने कहा कि पुलिसकर्मी कर्फ्यू के बीच सड़कों पर गश्त लगाकर एक सराहनीय काम कर रही है, हालांकि कुछ लोग इन आदेशों का पालन नहीं कर रहे हैं, उनके खिलाफ आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

संबंधित विषय