मुंबई की सभी इमारतों के बिजली कार्यों की हो जांच


SHARE

पिछलें कुछ दिनों से मुंबई में इमारतों में बिजली के कारण आग लगने की वारदातों में बढ़ोत्तरी हुई है, जिसे देखते हुए अब मांग उठ रही है की मुंबई में इमारतो के बिजली कार्यों की भी समय समय पर जांच होनी चाहिए। शॉटसर्किट के कारण लगनेवाली आग की संख्याओं को देखते हुए अब इस कदम की जरुरत महसुस की जा रही है। मांग की जा रही है की मुंबई की सारी इमारतो के बिजली कार्यों की एक बार समीक्षा की जाए और समय समय पर उनकी जांच की जाए।


बांद्रा के गरीब नगर में आग लगी नहीं ,लगाई गई थी।


हर १൦ साल में हो जांच

मुंबई में हर ३൦ साल में बीएमसी के अंतर्गत आनेवाली इमारतों की संरचनात्मक लेखापरिक्षण और हर १൦ साल में अग्निशमन यंत्र का परिक्षण किया जाता है। बीजेपी की लीना पटेल- देहेरकर ने मांग की है की इसी तरह हर १൦ साल में मुंबई के सभी इमारतों के बिजली कार्यों की जांच होनी चाहिए जिससे शॉटसर्किट जैसी घटनाओं से बचा जा सके।


ईंट लगने से राहगीर की मौत!


मुंबई में नई ईमारत बनाते समय पिलर और छत में वायरिंग का कार्य किया जाता है। लेकिन समय के साथ साथ बढ़ती जरुरतों के कारण दिवारों के पास से जानेवाले वायरों की संख्या बढ़ जाती है। जिससे किसी भी समय आग लगने की आशंका लगी रहती है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें