पूर्व पुलिस डायरेक्ट ने बात ऐप को किया लॉन्च, डेटा गोपनीयता का वादा

गुरुवार को, पूर्व पुलिस अधिकारी सचिन वज़े ने डायरेक्ट बात ऐप को लॉन्च किया। 31 दिसंबर तक इस ऐप की किमत 500 रुपये रहेगी जिसके बाद इसकी किमत 2500 हो जाएगी।

SHARE

अफवाहों को कम करने और डेटा गोपनीयता को बढ़ावा देने के लिए गुरुवार को, पूर्व पुलिस अधिकारी सचिन वज़े ने डायरेक्ट बात ऐप को लॉन्च किया। 31 दिसंबर तक इस ऐप की किमत 500 रुपये रहेगी जिसके बाद इसकी किमत 2500 हो जाएगी। ऐप में पंजीकरण विवरण को छोड़कर उपयोगकर्ता के किसी भी डेटा को स्टोर नहीं करता है, जो आंतरिक या बाहरी दोनों उल्लंघनों के कारण लीक होने वाले उपयोगकर्ता डेटा के दायरे को खत्म कर देगा।

वेज़ ने कहा कि ऐप का विचार एक साल पहले अफवाहों को ध्यान में ऱखते हुए आया। उन्होंने कहा कि 'डायरेक्ट बात' एक एंड टू एंड एन्क्रिप्शन वाले सर्वरों के माध्यम से उपयोगकर्ता के संदेश को पास करता है, लेकिन उनमें से कोई भी डेटा को स्टोर नहीं करता है और यह केवल सेंडर और रिसीवर के साथ पूरी गोपनीयता सुनिश्चित करता रहता है।

2016 में यूनाइटेड किंगडम में ब्रक्सिट जनमत संग्रह से पहले 50 मिलियन उपयोगकर्ताओं के फेसबुक डेटा के लिक गोने का जिक्र करते हुए उन्होंने डायरेक्ट बात के साथ कहा कि ऐप चलाने वाली टीम किसी भी उपयोगकर्ता डेटा तक नहीं पहुंच सकती है। उन्होंने कहा कि उनकी टीम ने लगभग 200 हैकर्स से उन संदेशों को रोकने और उनसे अवरुद्ध करने के लिए कहा जिन्हें डायरेक्ट बात के माध्यम से साझा किया जा रहा था लेकिन कोई भी सफल नहीं हो पाया।

31 दिसंबर तक इस ऐप की किमत 500 रुपये रहेगी जिसके बाद इसकी किमत 2500 हो जाएगी।

यह भी पढ़ेमुंबई में गड्ढे ने ली चार महीने के बच्चे की जान

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें