SHARE

दादर - आरटीआई कार्यकर्ता रामशंकर सरोज को पालिका के जी-उत्तर कार्यालय में प्रवेश पर बंदी का अजीबो-गरीब मामला सामने आया है। इस कार्यकर्ता ने जाली फोटोपास का करोड़ों का घोटाला उजागर किया है। दादर पालिका जी-उत्तर विभाग की इमारत के अधिकारियों ने इस मामले में हाथ खड़े कर दिए हैं। इस मामले में दो अधिकाऱियों की शिवाजी पार्क पुलिस स्टेशन में जांच शुरु है। कामों में अड़चन डालने के कारण रामशंकर को प्रवेश न देने की मांग बीएमसी अधिकारियों ने की थी। इस पर बीएमसी सह आयुक्त ने रामशंकर सरोज को इस कार्यालय में सप्ताह में सिर्फ दो दिन में दो घंटे प्रवेश का अजब फर्मान सुनाया।

रामशंकर काम के समय में घंटों अधिकारियों के साथ बैठता था। जिसकी वजह से काम का नुकसान होता था। इसलिए मैंने कहा कि जो भी काम हो मुझसे आकर मिलो यह जानकारी जी-उत्तर विभाग के सहायक आयुक्त रमाकांत बिरादार ने दी है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें