Advertisement
COVID-19 CASES IN MAHARASHTRA
Total:
59,87,521
Recovered:
57,42,258
Deaths:
1,18,795
LATEST COVID-19 INFORMATION  →

Active Cases
Cases in last 1 day
Mumbai
14,453
570
Maharashtra
1,23,340
8,470

खिचड़ी की जगह मध्यान्ह भोजन में अब बच्चों को मिलेगा ज्वार-भाकरी

अक्टूबर महीने से छात्रों को ज्वार, भाकरी और दाल दिया जाएगा। भारतीय अन्न महामंडल की तरफ से सभी स्कूलों में ज्वार और बाजरे उपलब्ध कराये जाएंगे।

खिचड़ी की जगह मध्यान्ह भोजन में अब बच्चों को मिलेगा ज्वार-भाकरी
SHARES

केंद्र और राज्य सरकार की तरफ से अब कक्षा एक से लेकर आठवीं तक के बच्चों को मध्यान्ह भोजन के तहत खाने के लिए ज्वार और बाजरे की भाकरी दी जाएगी। यही नहीं भाकरी के साथ चना, मटर जैसे मोटे अनाज के दाल भी दिए जाएंगे। इसके पहले बच्चों को खाने के लिए खिचड़ी दी जाती थी। बच्चों को खाने में अधिक पौष्टिक वाला खाना मिले इसीलिए मध्यान्ह भोजन के मेन्यु में बदलाव किया गया है।

अक्टूबर महीने से छात्रों को ज्वार, भाकरी और दाल दिया जाएगा। भारतीय अन्न महामंडल की तरफ से सभी स्कूलों में ज्वार और बाजरे उपलब्ध कराये जाएंगे। इस समय जो खिचड़ी दी जा रही है उसे लेकर कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। कभी अनाज की कमी तो कभी बनाने वाला ही गैर हाजिर रहता था।

छात्रों के लिए मध्यान्ह भोजन बनाने के लिए स्कूलों में महिलाओं की नियुक्ती की जाएगी, जबकि इस समय खिचड़ी पुरुष बना रहे हैं। सवाल उठ रहा है कि क्या भाकरी बनाते समय कोई परेशानी नहीं होगी। कई स्कूलों के मुख्याध्यापकों का कहना है कि जिनसे खाना बनवाया जाता है उनको मिलने वाला मानधन बेहद ही कम है। इससे लोग हतोत्साहित होते हैं और काम पर नहीं आते। इसीलिए उंनका मानधन बढ़ाये जाने की मांग की जा रही है। साथ ही इस बात को लेकर भी आशंका जताई जा रही है कि क्या समय पर अनाज उपलब्ध हो सकेंगे?

Read this story in मराठी or English
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें