महावितरण की बिजली हो सकती है महंगी

कंपनी में बिजली के दामों को बढ़ाने का प्रस्ताव दिया है

SHARE

महाराष्ट्र राज्य विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड (MSEDCL) ने अपनी बिजली दरों में बढ़ोत्तरी कर सकती  है।   MSEDCL मुंबई  को छोड़कर राज्य के एक बड़े हिस्से में बिजली की सप्लाी करती है।  कंपनी ने 0-100 युनिट की बिजली का इस्तेमाल करनेवालो पर  8% की दर और  101-300  युनिट की बिजली का इस्तेमाल करनेवालो पर 5% की बढ़ोतरी का प्रस्ताव दिया है।   हालांकी  इसने वित्तीय वर्ष 2021 के लिए 300 से ऊपर की 500 इकाइयों की श्रेणी में आने वालों के लिए कोई बढ़ोतरी प्रस्तावित नहीं की है।

बिजली के दामों में बढ़ोत्तरी

वर्तमान में, राज्य में 100 यूनिट से कम बिजली का उपयोग करने वाले उपभोक्ताओं की दर 3.05 रुपये प्रति यूनिट है। प्रस्ताव बिजली दरों में 3.30 रुपये प्रति यूनिट तक वृद्धि करने का है। इसलिए, बिजली 25 पैसे प्रति यूनिट खर्च होगी। इसके अलावा, जो उपभोक्ता 101 से 300 यूनिट तक बिजली का उपयोग करते हैं, प्रति यूनिट बिजली शुल्क 6.95 रुपये है। महाविद्या ने विद्युत नियामक आयोग को 7.30 रुपये प्रति यूनिट के लिए प्रस्ताव प्रस्तुत किया है। अगर इस प्रस्ताव को मंजूरी मिल जाती है, तो 101 से 300 यूनिट बिजली का उपयोग करने वाले उपभोक्ताओं के लिए टैरिफ 35 पैसे प्रति यूनिट बढ़ जाएगा।


इस प्रस्ताव की महाराष्ट्र विद्युत नियामक आयोग (एमईआरसी) द्वारा जांच की जाएगी, जिसके मार्च 2020 तक बिजली दरों के लिए अपने अंतिम आदेश जारी करने की उम्मीद है।मुंबई में, अडानी इलेक्ट्रिसिटी मुंबई लिमिटेड (AEML) ने 0-300 यूनिट्स श्रेणी के लोगों के लिए टैरिफ पर 1-4% कटौती का प्रस्ताव दिया, जबकि टाटा पावर ने 0-100 यूनिट्स श्रेणी के लिए अपने टैरिफ को दोगुना कर दिया है।

यह भी पढ़े- अंतरराष्ट्रीय मैराथन का आयोजन करगी महाराष्ट्र पुलिस

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें