बॉम्बे हाई कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार को लगाई फटकार

कोर्ट ने सरकार को फटकार लगाते हुए कहा की सरकार के पास प्रतिमाओं के लिए पैसे हैं लेकिन गरीबों के स्वास्थ्य के लिए नहीं।

SHARE

बॉम्बे हाई कोर्ट (Bombay High Court) ने गुरुवार को महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) को जमकर फटकार लगाई।बॉम्बे हाई कोर्ट ने कहा सरकार के पास मूर्तियों के लिए पैसा है, लेकिन गरीबों के लिए नहीं। बॉम्बे हाई कोर्ट ने महिलाओं और बच्चों के वाडिया अस्पताल को अनुदान जारी नहीं दिए जाने पर गुरुवार को महाराष्ट्र सरकार को लताड़ लगाई।  बॉम्बे हाई कोर्ट ने कड़े शब्दों में कहा, सरकार के पास प्रतिमाओं के लिए पैसे हैं लेकिन गरीबो के सार्वजनिक स्वास्थ्य के लिए नहीं है।

जनहित याचिका पर सुनवाई

जस्टिस एससी धर्माधिकारी तथा आरआई चागला की पीठ बाई जेराबाई वाडिया बाल अस्पताल तथा नौरोजी वाडिया प्रसूति अस्पताल को बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) तथा राज्य सरकार से अनुदान जारी कराने की मांग वाली एक जनहित याचिका पर सुनवाई कर रही थी।हालांकी बीएमसी नेने कोर्ट को बताया कि वो बच्चों के अस्पताल के लिए 14 करोड़ रुपये देने को तैयार है। राज्य सरकार शुक्रवार को कोर्ट को बताएगी कि वो अस्पताल को कब फंड देगी।

मुंबई में बच्चों को बेहतरीन सुविधा देने वाले वाडिया अस्पताल पर फंड की कमी से बंद होने का खतरा मंडारा रहा है. BMC और राज्य सरकार से वाडिया के दो अस्पताल जेराबाई और नौरोजी वाडिया अस्पताल को 229 करोड़ रुपए का फंड मिलना था जिसे अभी तक रिलीज नहीं किया गया है।

यह भी पढ़े- नरेंद्र दाभोलकर और कॉमरेड गोविंद पानसरे हत्याकांड- सीबीआई को मिला और समय

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें