Advertisement
COVID-19 CASES IN MAHARASHTRA
Total:
59,17,121
Recovered:
56,54,003
Deaths:
1,12,696
LATEST COVID-19 INFORMATION  →

Active Cases
Cases in last 1 day
Mumbai
15,390
575
Maharashtra
1,47,354
9,350

पहली बारिश में ही BMC की हुई फजीहत, मेयर ने याद दिलाई पुरानी बातें

मेयर किशोरी पेडनेकर ने कहा है कि, किसी ने यह दावा नहीं किया था कि मुंबई में पानी नहीं भरेगा। उन्होंने कहा कि, पहले बारिश में मुंबई में 2 से 5 दिनों तक ठप्प हो जाती थी, लेकीन अब ऐसा नहीं है।

पहली बारिश में ही BMC की हुई फजीहत, मेयर ने याद दिलाई पुरानी बातें
SHARES

मुंबई (mumbai rains) में बीती रात से बारिश हो रही है, जो अगले दिन तक जारी रही। मुंबई में कई जगहों सड़कों पर पानी जमा हो गया है, जिससे लोगों को काफी परेशानी हुई।

मानसून की पहली बारिश में ही BMC की पोल खुल गई। जबकि बारिश के पहले BMC ने 104 फीसदी नाला सफाई करने का दावा किया था। 

पहली बारिश में ही मुंबई के डूबने पर मेयर किशोरी पेडनेकर (mayor kishori pednekar) और BMC कमिश्नर इकबाल सिंह चहल (iqbal singh chahal) ने सफाई दी है।

मेयर किशोरी पेडनेकर ने कहा है कि, किसी ने यह दावा नहीं किया था कि मुंबई में पानी नहीं भरेगा। उन्होंने कहा कि, पहले बारिश में मुंबई में 2 से 5 दिनों तक ठप्प हो जाती थी, लेकीन अब ऐसा नहीं है।

दहिसर, मिलन सबवे (milan subway), हिंदमाता (hindmata) में हमेशा पानी जमा रहता था, लेकिन अब पानी ठहरता नहीं है, पानी निकल जाता है। यदि हाई टाइड भी रहता है तो पानी थोड़ी देर तक ही रहता है और फिर निकल जाता है। आज भी हाई टाइड और मूसलाधार बारिश की वजह से बाढ़ की स्थिति बनी।

तो वहीं इस मुद्दे पर bmc कमिश्नर इकबाल सिंह चहल ने कहा कि, 12 घंटे में 140 से 160 मिली बारिश हुई। यदि 24 घंटे में 500 मिली वर्षा हो जाए तो इसे अतिवृष्टि कहते हैं। लेकिन एक घंटे में 100 मिली से ज्यादा बारिश हो चुकी है। चुनाभट्टी और दहिसर के सबवे में पानी जमा हुआ है। इस बार हिंदमाता में चार फीट ऊंची सड़क का निर्माण किया गया। यह पहली बार है जब हिंदमाता मेंं

बारिश के समय ट्रैफिक जाम न हुआ हो। 140 करोड़ की भूमिगत परियोजना पर काम चल रहा है। वहां पानी जमा नहीं होगा। यह प्रोजेक्ट डेढ़ किमी तक का है। इस प्रोजेक्ट को पूरा होने में 30 दिन लगेंगे। फिर कभी पानी नहीं रुकेगा। प्रोजेक्ट अक्टूबर में शुरू हुआ था। जनवरी में आदेश दिया गया, परियोजना अब अपने अंतिम चरण में है।

उन्होंने आगे कहा, हम नगर पालिका (bmc) की ओर से गांधी मार्केट तक एक बड़ी पाइपलाइन बिछा रहे हैं। एक घंटे में 30 मिली से ज्यादा बारिश होने पर पानी जमा होने लगता है। नतीजतन, जल निकासी में समय लगता है।

यह भी पढ़ें: Viral video: बेस्ट की एसी मिनी बस में लीक हुआ पानी, छाता लगाकर ड्राइवर ने चलाई बस

Read this story in मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें