मुंबई में बारिश के दौरान इन समुद्री बीचों से बचे, हो सकती है खतरनाक बीमारियां!

मुंबई में आनेवाले कुछ दिनों में झमाझम बारिश होने की आशंका है।

SHARE

मैसम विभाग की ओर से मुंबई में आनेवाले कुछ दिनों में सामान्य से ज्यादा बारिश होने की आशंका है , जिसे देखते हुए प्रशासन ने भी अपनी तैारी कर ली है। इसके साथ ही नैशनल इंस्टिट्यूट ऑफ ओसियनोग्रॉफी (एनआईओ) के मुंबई ऑफिस द्वारा किए गए एक हालिया शोध के अनुसार मुंबई के कुछ समुद्र तटों (बीच) पर ऐसे बैक्टीरिया पाए गए है, जिससे अपकी सेहत पर काफी बूरा असर पड़ सकता है।

यह भी पढ़े- विधायक निवास 'मनोरा' के अच्छे दिन, फाइव स्टार में बदलेगा

इस बैक्टीरिया का असर बारिश में काफी तेजी से फैलता है। शोध के लिए एनआईओ द्वारा दादर, जुहू चौपाटी, गिरगांव और वर्सोवा के समुद्र तटों से पानी के 200 नमूने लिए गए। इनमें से 125 नमूनों को जांचा गया। इसकी रिपोर्ट के अनुसार, 54 प्रतिशत नमूनों में ई-कोली के ऐसे बैक्टीरिया पाए गए, जिसके उपचार के लिए इस्तेमाल होने वाली 12 तरह की ऐंटिबायॉटिक दवाइयां भी बेअसर रहीं।

इन समुंद्री किनारों से बचे

रिपोर्ट के अनुसार, दादर बीच में उपरोक्त बैक्टीरिया का असर सबसे अधिक देखने को मिला है। इसके बाद वर्सोवा, माहिम, जुहू और गिरगांव का नंबर है। मानक के अनुसार, समुद्री पानी में बैक्टीरिया की मौजूदगी 100 सीएफयू प्रति 100 एमएल होती है, हालांकि मुंबई में यह 1,000 सीएफयू प्रति 100 एमएल है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें