जीएसटी लागू होने पर बीएमसी की आय होगी प्रभावित ?

 Mumbai
जीएसटी लागू होने पर बीएमसी की आय होगी प्रभावित ?

मुंबई – बीएमसी के आय का प्रमुख स्रोत ‘जकात’ कर को 16 सितंबर से बंद कर दिया जाएगा। इसकी जानकारी बीएमसी कमिश्नर अजोय मेहता ने दी। मेहता ने बताया कि लगभग देश भर में 16 सितम्बर के बाद जीएसटी लागू हो जायेगा जिससे जकात बंद हो जाएगा। मेहता बजट पेश करने के दौरान अपने भाषण में बोल रहे थे।

कमिश्नर मेहता ने जानकरी देते हुए बताया कि जकात कर से बीएमसी को हर साल 7 हजार करोड़ रूपये की आय होती है, लेकिन जकात बंद होने से इसकी आर्थिक भरपाई अगले पांच वर्षों तक राज्य सरकार और केंद्र सरकार करेगी. मेहता ने आगे कहा कि नुकसान की भरपाई सरकार करेगी लेकिन उसके बाद क्या?

मेहता ने राज्य सरकार से अनुरोध किया है कि राज्य सरकार के द्वारा वसूले जाने वाले व्यवसाय कर को वसूलने का अधिकार बीएमसी को मिलना चाहिए। और व्यापार कर और जकात रद्द होने से आय के लिए कर के अन्य स्रोतों पर विचार किया जाए राज्य सरकार के द्वारा वसूले जाने वाले व्यवसाय कर को वसूलने का अधिकार बीएमसी को मिलना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि संपत्ति कर में और उपहार कर में एक फीसदी अधिभार लागू होने चाहिए।

इस सम्बन्ध में बॉम्बे स्टाम्प अधिनियम कानून 1958 और मनपा अधिनियम 1888 में संसोधन होने चाहिए। मेहता ने बताया कि अगर ऐसा होता है तो बीएमसी को तीन हजार करोड़ की अतिरिक्त आय होगी।

Loading Comments