कर माफी नहीं, जमा किया हुआ पैसा खर्च करने के लिए नहीं

 BMC
कर माफी नहीं, जमा किया हुआ पैसा खर्च करने के लिए नहीं

मुंबई- बीएमसी के 61 हजार करोड़ बैंक में एफडी किये हुए है, जिसपर विपक्ष के साथ साथ बीजेपी ने पिछलें दिनों जमकर हो हल्ला किया था। और मांग की थी की जमा किए गए पैसों को जनता के काम के लिए खर्च किए जाए।

यह भी पढ़े-विरोधी पक्ष नेता के बिना सूना-सूना लागे बीएमसी


महापालिका सभागृहनेता यशवंत जाधव ने इस एफडी की बारें में जानकारी मांगी थी। बीएमसी की ओर से इस पैसे का इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है। लेकिन टैक्स, साफ सफाई पर लोगों से टैक्स वसूला जा रहा है।


बीएमसी अतिरिक्त आयुक्त संजय मुखर्जी ने साफ कहा की जिन पैसों को लंबे समय के प्रोजेक्टों मे लगाना है उन्हें ही बैंको में जमा कराया जा रहा है। साथ ही इसमें भविष्य निर्वाह निधी , निवृत्ती वेतन का भी समावेश है।

यह भी पढ़े- जीएसटी लागू होने पर बीएमसी की आय होगी प्रभावित ?

भविष्य में सागरी- किनारा मार्ग प्रकल्प के लिए 15000 करोड़ रुपये, गोरेगांव-मुलुंड रास्ते के प्रकल्प के लिए 2348 करोड़ रुपये. विकास नियोजन विभाग के लिए 2096 करोड़, देवनारवीज निर्मिती प्रकल्प के लिए 877 करोड़ रुपये, मुंबई मलनिस्सार प्रकल्प के लिए 9845 करोड़ रुपये गारगाई प्रकल्प के लिए 1820 करोड़ रुपये, पिंजाल प्रकल्प के लिए 14390 करोड़ , कुल मिलाकर 46 हजार 642 करोड़ के पास बैठते है।

यह भी पढ़े- बीएमसी के बजट में 12,000 करोड़ की कटौती

तो वही बीएमसी में सपा के गट नेता रईस शेख ने कहा की 8266 करोड़ रुपये मुलभूत सुविधाओं के लिए रखे गए है। लेकिन उसमें से कितने पैसे खर्च हुए? तो वही बीजेपी गट नेता मनोज कोटक ने कहा की बीएमसी के पास इतने पैसे होने के बाद भी बीएमसी बेस्ट को 1 हजार करोड़ रुपये नहीं दे रही है। साथही सभागृहनेता यशवंत जाधव ने 6 महीनों के भीतर इस एफडी की जानकारी पेपर में देने की मांग की।

( मुंबई लाइव एप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें) 



Loading Comments