Advertisement

CAA के विरोध में प्रदर्शन आयोजित करनेवालो पर पुलिस ने किया मामला दर्ज

कल्याण बाज़ारपीठ पुलिस ने लाउड स्पीकरों का उपयोग करने के सुप्रीम कोर्ट के दिशानिर्देश का उल्लंघन करने के लिए कल्याण शाहीन बाग के आयोजक और उसके लाउड स्पीकर के मालिक के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

CAA के विरोध में प्रदर्शन आयोजित करनेवालो पर पुलिस ने किया मामला दर्ज
SHARES
Advertisement

कल्याण बाज़ारपीठ पुलिस ने नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) और प्रस्तावित पैन-इंडिया के विरोध में कल्याण में रात 10 बजे के बाद लाउड स्पीकरों का उपयोग करने के सुप्रीम कोर्ट के दिशानिर्देश का उल्लंघन करने के लिए कल्याण शाहीन बाग के आयोजक और उसके लाउड स्पीकर के मालिक के खिलाफ मामला दर्ज किया है। 

149 के तहत लाउड स्पीकर के मालिक के खिलाफ मामला दर्ज 

पुलिस के अनुसार, रविवार को आयोजक तौहीर सैय्यद उर्फ गोलती ने "हम भारत के लॉग" बैनर के तहत विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने सीआरपीसी की धारा 149 के तहत लाउड स्पीकर के मालिक के खिलाफ मामला दर्ज किया था।पुलिस ने कहा कि उन्होंने बिना अनुमति के कल्याण के गोविंदवाड़ी के KDMC मैदान में धरना दिया। इसके बाद, पुलिस ने उसी दिन आयोजक को 149 का नोटिस दिया। पुलिस ने कहा कि कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए कुछ पुलिस अधिकारियों को वहां तैनात किया गया है।

अनिश्चितकालीन विरोध प्रदर्शन

1
जनवरी कोकुछ नेताओं ने लगभग 11.55 बजे प्रदर्शनकारियों को संबोधित किया। महिला प्रदर्शनकारी 22 जनवरी को गोविंदवाड़ी के कल्याण-डोंबिवली नगर निगम मैदान में सीएए, एनआरसी, और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) के खिलाफ अनिश्चितकालीन विरोध प्रदर्शन पर गईं।

आपको बता दे की देशभर में इस वक्त अलग अलग जगहों पर केंद्र सरकार द्वारा पारित CAA को लेकर विरोध प्रदर्शन हो रहा है। दिल्ली के शाहीन बाग में महिलाएं पिछलें 52 दिनों से आंदोलन पर बैठी हुई है तो वही मुंबई के नागपाड़ा इलाके में 26 जनवरी की रात से ही महिलाएं इसके लिए विरोध प्रदर्शन कर रही है। मुंबई के भी अलग अलग इलाको में इस तरह का विरोध प्रदर्शन देखने को मिल रहा है।  देवनार बांद्रा और कई इलाको में भी इस तरह का विरोध प्रदर्शन देखा जा रहा है।  

मुंबई में गुरुवार को खत्म होगा आंदोलन

नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के विरोध में  मुंबई में शुरू हुआ मुंबई बाग आंदोलन गुरुवार की शाम बजे वापस लिया जाएगा, ऐसी घोषणा आयोजक नसीम सिद्दीकी ने की है।  इससे पहले कल शाम मुंबई बाग आंदोलन में से कुछ महिला और पुरुषों ने महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख से मुलाकात की थी।  गृह मंत्री ने आंदोलनकारियों को आश्वासन दिया था कि महाराष्ट्र में यह कानून लागू नहीं होगा।

यह भी पढ़े- शरजील के समर्थन में लगाए नारे, 51 लोगों पर केस दर्ज

संबंधित विषय
Advertisement