SHARE

घाटकोपर के राजावाड़ी अस्पताल में शुरु की गई "ह्यूमन मिल्क बैंक" को अब प्रशासन की मान्यता मिल गई है। घाटकोपर के राजवाड़ी अस्पताल में मातृ भागीदारी यानी मानव दूध को लेकर अक मिल्क बैंक की स्थापना की गई है। सरकार की मंजूरी मिलने के बाद अगले दो महिनो के भीतर यह बैंक पूरी तरह से काम करना शुरु कर देगा। मंत्री विद्या ठाकुर ने मुंबई लाइव से बात करते हुए ये जानकारी दी।

क्या है ह्यूमन मिल्क बैंक

दरअसल बच्चे की डिलवीरी के बाद कई बार मां काफी कमजोर हो जाती है या फिर किसी कारण मां चो दूध नहीं हो पाता है। तुरंत पैदा हुए बच्चे के लिए मां का दुध काफी अहम होता है। लोकिन मां को दुध ना होने के कारण कई बार तुरंत पैदा होनेवाले बच्चो को बाहर का दुध पिलाया जाता है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए अब अस्पतालों में मां के दुध का एक संग्रह रखा जाएगा जो ऐसे बच्चो को दुध दे सके जिसके तुरंत पैदा होने के बाद मां दुध नहीं दे पाती।

यह भी पढ़े- मराठा आरक्षण पर विशेष अधिवेशन बुलाया जाए- कांग्रेस

मुंबई उपगनर में पहाल अस्पताल

ह्यूमन मिल्क बैंक शुरु करनेवाला राजावाड़ी अस्पताल मुंबई उपनगर में पहला अस्पताल होगा। घाटकोपर, कुर्ला, चेंबूर, ठाणे, बदलापूर, मानखुर्द, गोवंडी जैसे इलाको से महिलाए .हां डिलवरी के लिए आती है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें