उस अमीर 'भिखारी' के 5 बेटे आए सामने, पैसों को लेकर किया दावा

जीआरपी का यह भी कहना है कि बिरभीचंद ने जो फिक्स डेपोजीत किया है उसमें उसने अपने बड़े बेटे को नॉमिनी बनाया हुआ है।

SHARE

पिछले हफ्ते गोवंडी में रहने वाले एक भिखारी बिरभीचंद आजाद की मौत ट्रेन के नीचे आने से हो गयी थी। जब इसकी पहचान के लिए पुलिस ने इसके घर की तलाशी ली तो इसके घर से लगभग पौने 2 लाख रुपए के सिक्के मिले थे और पौने 9 लाख रुपए के करीब बैंक में फिक्स डिपाजिट के पेपर भी मिले थे। अब इस बिरभीचंद आजाद के बेटे सामने आए हैं और पैसों को लेकर दावा कर रहे हैं। बिरभीचंद आजाद के कुल 5 बेटे हैं।

बेटे आए सामने
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पुलिस ने बताया कि बिरभीचंद आजाद के घर की जब तलाशी ली गयी तो वहां पर उन्हें पैसों के साथ साथ राजस्थान का पता मिला। मुंबई पुलिस ने राजस्थान पुलिस को फोन कर सारी बात बताई। मंगलवार को भिखारी के दो बेटों ने वाशी जीआरपी से संपर्क किया। 

पुलिस ने बताया कि भिखारी के चार बेटे कुछ और सरनेम का इस्तेमाल करते हैं जबकि पांचवां बेटा अपने पिता का सरनेम ही इस्तेमाल करता है। बिरभीचंद का एक बेटा मुंबई में रहता है जबकि चार बेटे राजस्थान में रहते हैं। आजाद की पत्नी मैथीदेवी राजस्थान में अपने एक बेटे के साथ उसके घर में रहती हैं।

तो मिलेगा पैसा और शव
जीआरपी का कहना है कि ये पांचों बिरभीचंद आजाद के ही बेटे हैं इसकी जांच की जा रही है, अगर सभी डोक्युमेंट्स सही हुए तो इन सभी को बिरभीचंद का बेटा मान लिया जाएगा, नहीं तो सभी का DNA टेस्ट किया जाएगा। मामला साफ़ होने के बाद ही बिरभीचंद का शव और पैसे इन्हें सौपें जाएंगे।

जीआरपी का यह भी कहना है कि बिरभीचंद ने जो फिक्स डेपोजीत किया है उसमें उसने अपने बड़े बेटे को नॉमिनी बनाया हुआ है।

पढ़ें: मरने के बाद भिखारी निकला लखपति

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें