Advertisement

भारी बारिश के चलते ऐतिहासिक इमारतों में घुसा पानी

मुंबई में मौजूदा बाढ़ की स्थिति के लिए शहर के निवासियों ने मेट्रो 3 (कोलाबा-बांद्रा-सीप्ज) के निर्माण और कोस्टल रोड परियोजनाओं के निर्माण को बाढ़ का जिम्मेदार मान रहे हैं।

भारी बारिश के चलते ऐतिहासिक इमारतों में घुसा पानी
SHARES


मुंबई में सोमवार से जारी बरसात गुरुवार को भी जारी है। लगातार हो रही इस बारिश से आम लोगों का जनजीवन प्रभावित हो रहा है। इस बारिश से मुंबई की सड़के किसी नदी की तरह हो गई हैं साथ ही हाईटाइड की वजह से शहर में पानी का जमाव चालू है।

दक्षिण मुंबई के कई इलाकों में बाढ़ की स्थिति बन गई है। दक्षिण मुंबई के ओवल मैदान, मरीन ड्राइव और गिरगांव चौपाटी जैसी जगहों पर पानी का जमाव चालू है। इसके अलावा कई हाउसिंग सोसाइटियों में भी पानी के घुसने की शिकायतें सामने आई हैं।

यही नहीं फोर्ट, चर्चगेट, ब्रीच कैंडी, पेडर रोड जैसे इलाकों में जहां आमतौर पर जलभराव नहीं होता, वहां भी इस बारिश की वजह से पानी जमा हो रहा है। दक्षिण मुंबई के यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल और मरीन ड्राइव के पास ऐतिहासिक विरासत कीी ईमारतों में भी पानी घुस गया है।

बुधवार शाम को दक्षिण मुंबई में 70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली तेज हवाओं और गरज के साथ 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलीं।  यह हवा की गति गंभीर साइक्लोनिक स्टॉर्म निसर्ग (90-100 किमी प्रति घंटे) के पोस्ट-लैंडफॉल प्रभाव के बराबर है जो 3 जून को मुंबई में दर्ज की गई थी।

मुंबई में मौजूदा बाढ़ की स्थिति के लिए शहर के निवासियों ने मेट्रो 3 (कोलाबा-बांद्रा-सीप्ज) के निर्माण और कोस्टल रोड परियोजनाओं के निर्माण को बाढ़ का जिम्मेदार मान रहे हैं।

इसके अलावा, पर्यावरणविदों और टाउन प्लानर्स ने आरोप लगाया है कि मैंग्रोव और अनियोजित निर्माणों को बढ़ावा मिला, इससे भी शहर की ड्रेनेज सिस्टम प्रभावित हुई है और ढांचागत विकास की आड़ में जो अंधाधुंध मैंग्रोव की कटाई हुई उससे भी समुद्र का पानी शहर में आता है क्योंकि मैंग्रोव अतिरिक्त पानी सोखते हैं, जो अब नहीं हो रहा है।

मैंग्रोव सोसाइटी ऑफ इंडिया (MSI) ने अपनी 2019 की रिपोर्ट मे  कहा कि महाराष्ट्र के समुद्र तट पर मैंग्रोव भूमि पर अतिक्रमण करने के 75 मामले सामने आए हैं, जिनमें से अधिकतम हिस्सा मुंबई महानगर क्षेत्र (MMR) का है।

Read this story in English
संबंधित विषय