आरे में कटेंगे 2646 पेड़ , शिवसेना ने किया विरोध

कार शेड के निर्माण के रास्ते में आने वाले 2185 पेड़ों को काटा जाएगा, जबकि 461 पेड़ों को दूसरी जगह प्रत्यारोपित किया जाएगा।

SHARE

शिवसेना के विरोध के बाद भी  वृक्ष प्राधिकरण समिति ने  आरे इलाके में कारशेड बनाने के लिए पेड काटने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।  वृक्ष प्राधिकरण समिति के इस फैसले के बाद मुंबई के आरे इलाके में लगभग  2238 पेड़ काटे जाएंगे।  हालांकी समिति के इस फैसले के विरोध में अब मुंबईकरो ने अब आवाज उठाना शुरु कर दिया है।  मुंबईकरो के साथ साथ शिवसेना और कांग्रेस ने भी इसके खिलाफ अपना विरोध दर्ज किया है। 

मिली जानकारी के अनुसार, बैठक में पेड़ों को काटे जाने के पक्ष में 8 वोट पड़े, वहीं 6 सदस्यों ने पेड़ काटे जाने का विरोध किया। वोटिंग के बाद लिए गए फैसले के अनुसार, कार शेड के निर्माण के रास्ते में आने वाले 2185 पेड़ों को काटा जाएगा, जबकि 461 पेड़ों को दूसरी जगह प्रत्यारोपित किया जाएगा। नतीजतन, कुल 2646 पेड़ प्रभावित होंगे।


बीएमसी की स्थायी समिति के चेयरमैन और पेड़ प्राधिकरण समिति में शिवसेना के सदस्य यशवंत जाधव ने बताया, ''शिवसेना की भूमिका पर्यावरणपूरक है,हम मेट्रो का विरोध नहीं करते हैं, हमारा विरोध पेड़ काटने को लेकर है, प्रशासन चाहे तो कांजूर मार्ग में भी मेट्रो शेड़ बना सकता है,हमने मुंबई के कांजूर इलाके में वैकल्पिक जगह बतायी थी,बीएमसी प्रशासन के पेड़ काटने के निर्णय को शिवसेना कोर्ट में चुनौती देगी.''


किसने किया समर्थन और किसने किया विरोध

गुरुवार को वृक्ष प्राधिकरण समिति के मतदान के दौरान भाजपा, एनसीपी और एक्सपर्ट समिति के सदस्यों ने प्रस्ताव के समर्थन में मतदान कियाशिवसेना प्रस्ताव का विरोध कर रही थी और कांग्रेस ने मतदान का बहिष्कार किया

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें