Advertisement

500 रुपये के कर्ज ने ले ली जान, फांसी लगाकर की आत्महत्या!


500 रुपये के कर्ज ने ले ली जान, फांसी लगाकर की आत्महत्या!
SHARES

पालघर (Palghar) जिले के मोखाड़ा के एक आदिवासी कालू पवार ने महज 500 रुपये के कर्ज पर प्रताड़ित होने के बाद फांसी से लटककर आत्महत्या कर ली।  

48 वर्षीय कालू पवार ने स्थानीय विधायक सुनील भुसारा के करीबी सहयोगी रामदास अंबु कोर्डे से नवंबर में अपने 13 वर्षीय बेटे के अंतिम संस्कार के लिए कफन के पैसे  उधार लिए थे।  कर्ज चुकाने के लिए कोर्डे ने उससे महीनों तक अपने खेत में काम करवाया।

मोखाडा पुलिस ने कोर्डे के खिलाफ बंधुआ मजदूरी प्रणाली (उन्मूलन) अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस ने 2 अगस्त को कालू  पवार की पत्नी सावित्रा द्वारा शिकायत दर्ज कराने के बाद कोर्डे के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी।

पुलिस ने मामले को कथित रूप से दबाने के लिए शुरू में एक आकस्मिक मौत की रिपोर्ट (एडीआर) दर्ज की थी। हालांकि, सामाजिक कार्यकर्ता विवेक पंडित, जो राज्य में आदिवासियों के कल्याण के लिए लड़ रहे हैं, ने पुलिस को 4 अगस्त को पवार के शव को निकालने और पोस्टमार्टम के लिए मुंबई के जे जे अस्पताल भेजने के लिए मजबूर किया।

कालू पवार की पत्नी सावित्रा ने अपनी पुलिस शिकायत में कहा कि कोर्डे पिछले साल नवंबर से उसके पति को परेशान कर रहा था।  पवार ने अपने बेटे दत्तू के अंतिम संस्कार के लिए पैसे उधार लिए थे, जिनका शव उनके लापता होने के कुछ दिनों बाद दिवाली की पूर्व संध्या पर रहस्यमय परिस्थितियों में मिला था।


आदिवासी योजनाओं की स्थिति की जाँच के लिए राज्य सरकार द्वारा नियुक्त एक पैनल के अध्यक्ष  विवेक पंडित ने बताया की “कोर्डे विधायक भुसारा के दाहिने हाथ हैं, जो पुलिस पर अपने आदमी के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने का दबाव बना रहे थे।  भुसारा ने प्राथमिकी दर्ज कराने के लिए मुझे मामले का पालन करने से रोकने के लिए भी मुझे फोन किया।  अंतत: एक महीने के फॉलोअप के बाद आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है, लेकिन अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।


विधायक भुसारा ने कहा, 'कोर्डे के खिलाफ प्राथमिकी फर्जी है।  अगर इस तरह की एफआईआर दर्ज की जाती है, तो एक समय आएगा जब किसी आदिवासी को खेत में काम करने के लिए नहीं बुलाया जाएगा।”  उन्होंने पुलिस पर दबाव बनाने के आरोपों का भी खंडन किया।  भुसारा ने कहा, "मैंने इसके बजाय पुलिस को कोर्डे के खिलाफ कोई भी कार्रवाई करने से पहले पूरी तरह से जांच करने के लिए कहा था।"

यह भी पढ़े- अगर कोरोना की तीसरी लहर आई तो लगेगा पूर्ण लॉकडाउन -मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

Read this story in English
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें