मनमानी करने वाली सीमेंट कंपनियों को गडकरी ने चेताया

 Mumbai
मनमानी करने वाली सीमेंट कंपनियों को गडकरी ने चेताया
मनमानी करने वाली सीमेंट कंपनियों को गडकरी ने चेताया
See all

सीमेंट की हाल ही में तेजी से बढ़ी कीमत पर सरकार की नजर है। सीमेंट कंपनियों के बार-बार दाम बढ़ाने पर केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने उन्हें चेतावनी भी दे दी है। नितिन गडकरी ने सीधे कहा है कि अगर सीमेंट कंपनियां अपनी हरकतों से बाज नहीं आती हैं तो सरकार उन्हें जेल तक भिजवा सकती हैं। आपको बता दें कि 2 महीनों में सीमेंट के दाम में तेजी से इजाफा हुआ है। 250 रुपये में मिलने वाली सीमेंट की बोरी के दाम 350 रुपये तक चले गए हैं।

उन्होंने आगे कहा कि हर बोरी के पीछे 100 रुपए कमाने वाली ऐसी कंपनियों के विरोध में भारतीय स्पर्धा आयोग अर्थात कॉम्पिटिशन कमीशन ऑफ़ इंडिया 2013 में 6 हजार करोड़ रूपए का आर्थिक दंड लगाने के बाद भी सीमेंट मालिकों की मनमानी कम नहीं हुई है। गडकरी ने प्रश्न किया कि क्या कम्पनियों की मनमानी बंद होगी? और नहीं तो गडकरी सच में कंपनी की बैंड बजाएगा?

बिल्डर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया के पदाधिकारी आनंद गुप्ता ने कहा कि सीमेंट निर्माण कार्य में लगे वाला बहुत ही जरुरी घटक है। दिनों दीन इसकी मांग बढ़ रही है। मुंबई में 170 और 200 रूपये में मिलने वाली सीमेंट की बोरी अब 350 और 375 रुपए में मिल रही है, जिससे घरों की कीमत में भी 50 रूपये स्क्वायर फीट की बढ़ोत्तरी हुई है। इसका भार सीधा सीधा ग्राहकों पर ही पड़ता है। गुप्ता ने आगे कह कि कंपनियों के इस मनमानी के खिलाफ हमने भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग के पास शिकायत की थी। जिससे आयोग ने 2013 में छह हजार करोड़ का दंड लगाया था।

गडकरी के इस बयान की बीएआई और अन्य निर्माण संगठनों ने स्वागत किया है। संगठन ने आशा जताई है कि गडकरी ने जो कहा है वो केवल बयान ही नहीं बल्कि मनमानी करने वाली कम्पनियों के खिलाफ ठोस कदम भी उठाएंगे।

Loading Comments