SHARE

राज्य भर में सरकारी भर्ती परीक्षाओं की तैयारी करने वाले युवा 19 से 24 मई के बीच पुणे से मुंबई तक लॉन्ग मार्च करेंगे। दो लाख रिक्त पदों को भरने और भर्ती प्रक्रियाओं में घोटालों में न्यायिक जांच करने सहीत अपनी कई मांगो को लेकर छात्र ये लॉन्ग मार्च करेंगे। छात्र 19 मई को पुणे के दक्कन जिमखाना से अपने लॉन्ग मार्च की शुरुआत करेंगे जो 24 मई को मुंबई में खत्म होगा।

यह भी पढ़े- Railway Recruitment 2018: 90 हजार सीट के लिए 2.37 करोड़ उम्मीदवार

मार्च के आयोजकों ने कहा कि यह किसी भी राजनीतिक दल से संबंधित नहीं है। लोगों को किसी भी तरह की परेशानी ना हो इसके लिए इस मार्च को रात में ही निकाला जाएगा। कुछ छात्रों का कहना है की दो लाख से अधिक रिक्त पद चरणबद्ध तरीके से भरे जाएंगे। इन प्रक्रियाओं में कई घोटाले सामने आए हैं , डमी उम्मीदवार रैकेट, ऑप्टिकल मार्क रिकग्निशन सिस्टम रिगिंग और शिक्षक भर्ती घोटाला। इन सभी की जांच हो और जल्द से जल्द रिक्त पदों को भरा जाए।

यह भी पढ़े - पिछलें 6 महीनों से महाराष्ट्र कोस्टलाइन गार्ड को नहीं मिली सैलरी

ऐसे कई लोग हैं जिन्हें धोखाधड़ी के माध्यम से सरकारी नौकरियां मिली हैं, और हम मांग कर रहे हैं कि उन्हें सेवाओं से बर्खास्त किया जाना चाहिए। लंबी मार्च सरकार और महाराष्ट्र के लोगों के सामने सभी मांगों को आगे बढ़ाने का प्रयास है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें