जोमैटो मामला- मुंबई डब्बावाला संघ भी उतरा डिलीवरी ब्वॉय के समर्थन में

डब्बावाला संघ का कहना है की डिलीवरी बॉय अलग धर्म का होने की वजह से ऑर्डर रद्द करने की इस हरकत की निंदा करते हैं

SHARE

जोमैटो मामले में अब मुंबई में लोगों के दफ्तरों पर टिफिन पहुंचानेवाले मुंबई डब्बेवालों ने भी  अब अपना समर्थन  डिलीवरी बॉय को दिया है।   मुंबई डब्बावाला संघ ने "गैर-हिंदू" से डिलीवरी लेने से इनकार करने वाले जबलपुर के जोमैटो ग्राहक की गुरुवार को को आलोचना की। आपको बता दे की मुंबई में डब्बेवाले लाखों लोगों के दफ्तर में टिफिन पहुंचाते है।  

पांच हजार सदस्यों वाले डब्बावाला संघ के प्रवक्ता सुभाष तालेकर ने कहा कि जोमैटो का प्रतिनिधि अपनी आजीविका कमाने के लिये काम कर रहा था। उन्होंने पूछा, "यह ग्राहक तब क्या करता जब वह बहुत ज्यादा भूखा होता और किसी अन्य धर्म का व्यक्ति उसके लिये भोजन लाता?"


अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा की "हम डिलीवरी बॉय अलग धर्म का होने की वजह से ऑर्डर रद्द करने की इस हरकत की निंदा करते हैं। डिलीवरी करने वाला हिंदू-मुस्लिम कोई भी हो सकता है। वह अपनी आजीविका के लिये अपना काम करता है। ऐसे कामगारों का कोई धर्म नहीं होता।"

क्या था मामला

मध्य प्रदेश के जबलपुर में ग्राहक अमित शुक्ला ने दो दिन पहले ट्विटर पर दावा किया था कि उसने जोमैटो के भोजन की डिलीवरी लेने से इसलिये इनकार कर दिया क्योंकि उसे डिलीवरी पहुंचाने का काम एक मुसलमान को दिया गया था।

यह भी पढ़े-बिना सब्सिडी वाली रसोई गैस सिलेंडर के दामों में कटौती

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें