मुंबई पर मंडराता दूध का संकट

    Pali Hill
    मुंबई पर मंडराता दूध का संकट
    मुंबई  -  

    मुंबई - केंद्र सरकार के 500 और 1000 रुपए के नोट बंदी का असर दूध विक्रेताओं पर भी पड़ रहा है। ग्राहकों के पास से दूध विक्रताओं के पास आए पांच सौ और हजार रुपए के नोट महानंद, गोकुल व अमूल डेयरी धारक स्वीकार नहीं कर रहे हैं। जिससे दूध विक्रेताओं के पास पांच सौ और हजार के नोट बड़ी संख्या में जमा हो गए हैं। छुट्टे पैसे नहीं होने से दूध विक्रेताओं को दूध बेचने में भारी दिक्कत हो रही है। मुंबई दूध विक्रेता संघ के सचिव जगदीश कट्टीमणी ने कहा कि पैसे नहीं होने से दूध की खरीदी नहीं हो पाएगी जिससे मुंबई में दूध की कमी हो सकती है। इसलिए इस मामले में मुख्यमंत्री और दुग्ध विकास मंत्री को डेयरी मालिकों को पांच सौ और हजार के नोट स्वीकारने का आदेश देना चाहिए। वहीं दुग्ध विकास मंत्री महादेव जानकर ने बताया कि महानंद, आरे सहकारी डेयरी को पुराने नोट स्वीकारने व चेक लेने के लिए मैने खुद डेयरी संचालकों से बोला है।

    Loading Comments

    संबंधित ख़बरें

    © 2018 MumbaiLive. All Rights Reserved.