लॉकडाउन उल्लंघन करने के मामले में 1.56 लाख केस दर्ज

वर्तमान में, 126 पुलिस अधिकारी और 1,027 पुलिस कोरोना प्रभावित हैं और उनका इलाज चल रहा है।

लॉकडाउन उल्लंघन करने के मामले में 1.56 लाख केस दर्ज
SHARES

महाराष्ट्र में कोरोनावायरस (Coronavirus) का प्रचलन दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। जहां एक ओर प्रशासन कोरोना (Covid-19) को फैलने से हरसंभव कोशिश कर रही है तो वहीं दूसरी ओर, पुलिस ऐसे नागरिकों पर कार्रवाई भी कर रही है जो लॉकडाउन (lockdown) नियमों का उल्लंघन करते हुए पाए जा रहे हैं। पुलिस ने ऐसे लोगों के खिलाफ केस दर्ज करना शुरू कर दिया जो बिना किसी कारण के अपने घर से बाहर घूमते हुए पाए गए। और बिना कारण कोई अपने वाहन से बाहर घूमते हुए पाया जा रहा है तो उसका वाहन भी जब्त किया जा रहा है। पुलिस ने नागरिकों से अपील की है कि किसी को भी आवश्यक सेवाओं के अलावा घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए। इसके अलावा, यदि आप घर से बाहर निकल रहे हैं, तो अपना पहचान पत्र और आवश्यक दस्तावेज पास में रखें।  

25 मार्च से यानी जब से लॉकडाउन लगा, तब से लेकर 8 जुलाई तक लॉकडाउन की अवधि के दौरान, राज्य में लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले 1 लाख 56 हजार 299 लोगों पर धारा 188 के तहत केस दर्ज किए गए। जबकि 29 हजार 793 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया।  साथ ही आवश्यक सेवाओं के लिए पुलिस विभाग के माध्यम से 5 लाख 69 हजार 400 लोगों को पास दिया गया।  

कोरोना से निपटने के लिए पुलिस बल, स्वास्थ्य विभाग, डॉक्टर और नर्स दिन-रात काम कर रहे हैं। लेकिन कोरोना की शुरुआत में कुछ असामाजिक तत्वों ने पुलिस पर हमला भी किया था। ऐसे लोगों पर कार्रवाई करते हुए पुलिस विभाग 863 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, इस तरह की कुल 300 घटनाएं सामने आई थीं।

राज्य के सभी जिलों में पुलिस विभाग की डायल 100 नंबर 24 घंटे काम कर रही है।  लॉकडाउन के दौरान, इस फोन पर 1,06,105 कॉल प्राप्त हुए, जिनमें से सभी को विधिवत रूप से नोट किया गया।  इसके अलावा, पुलिस ने ऐसे 801 लोगों 

की तलाश कर उन्हें क्वारंटाइन सेंटर भेजा जिनके हाथों में क्वारंटाइन की मुहर लगी थी। साथ ही, 1335 वाहनों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज किए गए और 88,786 वाहन जब्त किए गए।

कोरोना वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए मुंबई से 42 पुलिस कर्मचारी और 2 अधिकारी यानी कुल 44, पुणे से 3, सोलापुर शहर से 3, नाशिक ग्रामीण से 3, नाशिक शहर से 1, ए.टी.एस से 1, मुंबई रेलवे 4, ठाणे सिटी 4, ठाणे ग्रामीण 1 और 1 अधिकारी, जलगाँव ग्रामीण 1, पालघर 1, रायगढ़ 1, जालना एसआरपीएफ 1 अधिकारी, अमरावती सिटी 1 डब्ल्यूपीसी, उस्मानाबाद 1, नवी मुंबई SRPF 1 अधिकारी की कोरोना के कारण मौत हो चुकी है।

पुलिस ने कोरोना से संबंधित किसी भी लक्षण को नोटिस करने पर तत्काल कार्रवाई करने के लिए पूरे राज्य में नियंत्रण कक्ष स्थापित किए हैं।  वर्तमान में, 126 पुलिस अधिकारी और 1,027 पुलिस कोरोना प्रभावित हैं और उनका इलाज चल रहा है।

संबंधित विषय