मुंबई का 'काला' दिन , अभी भी गहरे है जख्म !

 Mumbai
मुंबई का 'काला' दिन , अभी भी गहरे है जख्म !

13 जुलाई 2011 को मुंबई में तीन जगहों पर जोरदार बम धमाके हुए थे। पहला ब्लास्ट जवेरी बाजार के खाउ गल्ली में शाम 6.45 बजे, दूसरा ब्लास्ट ऑपेरा हाऊस , टाटा रोड में शाम 6.55 बजे तो वहीं तीसरा ब्लास्ट दादर वेस्ट, कबुतर खाना पर शाम 7.08 बजे हुआ था। इन तीनो ब्लास्ट में 26 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी तो वही 130 से भी ज्यादा लोग घायल हो गए थे।


                                                                        ( हिरा व्यापारी संदिप चंपकलाल शाह की बम ब्लास्ट में मौत हो गई थी) 

इस साल इस हादसे को 6 साल पूरे हो जाएंगे। लेकिन अभी तक ब्लास्ट में घायल हुए लोगों और मृतको के परिजनो के जख्म भरे नहीं है।मुंबई का रहनेवाले शाह परिवार अभी तक इस सदमे से उभरा नहीं है। ऑपेरा हाऊस में हुए ब्लास्ट में हिरा व्यापारी संदिप चंपकलाल शाह की मौत हो गई थी। संदिप के बेटे आज हिंदूजा कॉलेज में अपनी आखरी वर्ष की पढ़ाई कर रहे है। संदिप के घर में अब केवल उनकी पत्नी और उनका बेटा रहे गया है।

संदिप की पत्नी की मांग है की उनको एक घर मिले, साथ ही मेडिक्लेम और बच्चे को एक अच्छी नौकरी मिले। साथ ही उन्हे 5 हजार रुपये हर महिने पेंशन मिले। हालांकी संदिप की पत्नी को केंद सरकार की ओर से 3 लाख, राज्य सरकार की ओर से 5 लाख , मंत्रालय की ओर से 2 लाख और उन्य लोगों से 5 लाख की आर्थिक सहायता राशि दी गई थी। बावजूद इसके कंकन शाह से उसके परिवार वालो ने भी दूरी बना ली है।  


डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दे) 

Loading Comments