मादक पदार्थ विदेश तस्करी करने पर तीन आरोपियों को 10 साल की सजा

इस गोरखधंधे के पीछे मुख्य आरोपी के रूप में आलिशान शर्मा नामके व्यक्ति के होने का पता पुलिस को चला। लंदन में पढाई पूरी करने वाला शर्मा अंधेरी में जिम चलाता था। यही नहीं पुलिस को इस बात का भी पता चला कि शर्मा लंदन की पार्टियों में हशीश सहित विभिन्न प्रकार के मादक पदार्थ बेचने का काम करता था।

SHARE

मादक पदार्थों की तस्करी करने के आरोप में साल 2014 में डीआरआई (राजस्व खुफिया महानिदेशालय) ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया था। ये तीनों कुरियर के माध्यम से विदेशों में ड्रग भेजा करते थे। अब इस मामले में इन तीनों आरोपियों को कोर्ट ने 10 साल के लिए सश्रम कारावास की सजा सुनाई है। इन तीनों आरोपियों के नाम किरण कुमार, अलिशान शर्मा, किरण जंगले है।

क्या था मामला?
आपको बता दें कि साल 2014 फरवरी महीने में डीआरआई ने कार्रवाई करते हुए अंधेरी के लोखंडवाला इलाके से 9 किलो केटामाइन, 13 किलो मिथेम्पफेटामाईन बरामद किया था। पुलिस कि जांच में यह बात सामने आई कि इन मादक पदार्थों को कुरियर के द्वारा लंदन भेजा जाना था। पुलिस ने जब और भी जांच की तो पता चला कि कुछ लोग अन्न पदार्थों के नाम पर लंदन कुरियर के माध्यम से लंदन ड्रग तस्करी करते हैं।

इस गोरखधंधे के पीछे मुख्य आरोपी के रूप में आलिशान शर्मा नामके व्यक्ति के होने का पता पुलिस को चला। लंदन में पढाई पूरी करने वाला शर्मा अंधेरी में जिम चलाता था। यही नहीं पुलिस को इस बात का भी पता चला कि शर्मा लंदन की पार्टियों में हशीश सहित विभिन्न प्रकार के मादक पदार्थ बेचने का काम करता था।

आलिशान की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने दोनों किरण कुमार और किरण जंगले नामके आरोपियों को भी गिरफ्तार किया। खाने के डिब्बों में ड्रग छुपाकर उन्हें कुरियर से बाहर भेजने का काम किरण अंजाम देता था। इस काम में दूसरा किरण भी साथ देता था।

इन तीनों को डीआरआई ने रंगे हाथ गिरफ्तार किया. NDPRS कोर्ट ने इन तीनो को बामशक्कत 10 साल कि सजा सुनाई है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें