मुंबई: पानी चोरी का देश में अपनी तरह का पहला मामला, 73 करोड़ का पानी चोरी

इस मामले में आजाद मैदान पुलिस ने जमीन के मालिक, ठेकेदार सहित कुल छह लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

SHARE

मुंबई में पानी चोरी का देश में अपनी तरह का पहला मामला सामने आया है। बताया जाता है कि 6 लोगों ने 12 साल में दो कुएं खोद कर 73 करोड़ रुपए के पानी चोरी किये। इस मामले में आजाद मैदान पुलिस ने जमीन के मालिक, ठेकेदार सहित कुल छह लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। पुलिस ने बोमनजी मास्‍टर लेन और पाण्डेय मैंशन के मालिक त्रिपुरा प्रसाद नानालाल पंड्या, उनकी कंपनी के दो डायरेक्‍टर्स प्रकाश पंड्या और मनोज पंड्या और तीन वाटर टैंकर ऑपरेटर के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। पुलिस के मुताबिक, इन्होंने अवैध रूप से दो कुएं खुदवाए थे। इनमें वाटर पंप लगाकर पानी निकाला।  

क्या है मामला?

कालबादेवी इलाके रहने वाले सुरेश कुमार जैन ने साल 2003 में बोमनजी मास्टर लेन, कालबादेवी में  त्रिपुराप्रसाद पंड्या से किराए पर जगह ली थी। इस जगह पर दो कुएं भी थे। इस कुएं में से हर दिन कई टैंकर पानी निकाला जाता था, पानी के कारण वहां हमेशा कीचड़ जो जाया करता था। जैन ने इन टैंकर वालों को कई बार पानी नहीं निकालने के लिए मना भी किया लेकिन टैंकर वालों ने किराया पर पानी ले जाने की बात कह कर हर दिन हजारों लीटर पानी निकाला करते थे।

इसे देखते हुए जैन ने RTI के जरिए प्रशासन से इस बात जानकारी मांगी। जानकारी के जरिये उन्हें पता चला कि ये दोनों कुएं अवैध हैं। इसके बाद जैन से पुलिस से संपर्क किया। पुलिस ने यहाँ से पानी निकालने के जुर्म में टैंकर के मालिक अरुण मिश्रा, धीरज मिश्रा और श्रवण मिश्रा सहित जमीन के मालिक त्रिपुराप्रसाद पंडया, प्रकाश त्रिपुरापरसाद पंड्या, मनोज महेंद्रकुमार पंड्या को भी गिरफ्तार किया।

पुलिस ने बताया कि यहां से पानी निकालने और उसे बेचने के लिए बाकायदा मीटर लगा हुआ था। यहां से हर दिन सैकड़ों लीटर पानी हजार-हजार लीटर वाली क्षमता के टैंकर में भरा जाता था। आरोपियों ने 2006 से लेकर अब तक 6.10 लाख लीटर पानी निकाल कर यहां से बेचा है। पुलिस के अनुसार इन्होने अब तक 73 करोड़, 18 लाख 56 हजार 1200 रुपए का पानी बेच चुके हैं।

इससे पहले, लोकमान्‍य तिलक मार्ग थाने की पुलिस ने पंड्या मैंशन के मालिकों के खिलाफ बिल्डिंग प्‍लान में फर्जीवाड़ा करने की चार्जशीट भी दाखिल की थी। नेशनल ग्रीन ट्रिब्‍यूनल ने कुओं को बंद करने का आदेश दिया था।  

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें