videocon loan case में चंदा कोचर उनके पति और वीडियोकॉन के एमडी नहीं जा पाएंगे विदेश

इस मामले में आईसीआईसीआई बैंक स्वतंत्र जांच भी करवा रहा था, जिसकी रिपोर्ट भी पिछले महीने आ चुकी है। जांच में चंदा को दोषी पाया गया। जांच कमेटी ने कहा कि उनके इस्तीफे को निष्कासन माना जाए।

SHARE

सीबीआई ने आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व सीईओ और एमडी चंदा कोचर और उनके पति दीपक कोचर सहित वीडियोकॉन ग्रुप के एमडी वेणुगोपाल धूत के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर (LoC) जारी किया है। लुक आउट नोटिस जारी होने के बाद अब ये तीनों बिना बताए विदेश नहीं जा पाएंगे। यह सर्कुलर प्रीलिमनरी इंक्वायरी की रिपोर्ट फाइल करने के बाद जारी किया गया।

चंदा कोचर पर आरोप है कि जब वे आईसीआईसीआई बैंक की एमडी थीं यानी साल 2009 से लेकर 2012 तक इन्होनें वीडियोकॉन को 3250 करोड़ रूपये का कर्ज दिया था जिसमे कथित तौर पर भ्रष्टाचार किया गया था।

पढ़ें: ICICI की पूर्व सीईओ चंदा कोचर, विडियोकॉन के एमडी वेणुगोपाल धुत समेत चार लोगों पर CBI ने दर्ज किया केस

मामला सामने आने पर बैंक के संचालक और शेयर धारकों के दबाव में आकर चंदा कोचर ने पिछले साल अक्टूबर में आईसीआईसीआई बैंक के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ के पद से इस्तीफा दे दिया था। इस मामले में आईसीआईसीआई बैंक स्वतंत्र जांच भी करवा रहा था, जिसकी रिपोर्ट भी पिछले महीने आ चुकी है। जांच में चंदा को दोषी पाया गया। जांच कमेटी ने कहा कि उनके इस्तीफे को निष्कासन माना जाए।

निष्कासन के बाद मीडिया के हवाले से चंदा कोचर ने जो प्रतिक्रिया दी है उसके मुताबिक बैंक में कर्ज देने का कोई भी फैसला एकतरफा नहीं किया गया था। उन्होंने आगे कहा है कि,वे इस फैसले से काफी निराश और परेशान हैं।उन्होंने दावा किया है कि उन्हें रिपोर्ट की कॉपी तक नहीं दी गई। 

बताया जाता है कि आईसीआईसीआई बैंक ने जिस न्यूपावर रिन्यूएबल्स नामकी कंपनी को लोन दिया गया वह चंदा कोचर के पति दीपक कोचर की ही कंपनी है। और इस मामले में वीडियोकॉन की अनियमितिता भी सामने आई है।

इसके पहले सीबीआई ने पिछले महीने ही चंदा कोचर उनके पति दीपक कोचर सहित वीडियोकॉन ग्रुप के एमडी वेणुगोपाल धूत के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी। साथ ही वीडियोकॉन के नरीमन पॉइंट, और बांद्रा औरंगाबाद स्थित दफ्तरों में छापा भी मारा गया था।

पढ़ें: ICICI बैंक की MD चंदा कोचर ने अपने पद से दिया इस्तीफा

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें