फर्जी पैकर्स मूवर्स गैंग का भांडाफोड़, तीन गिरफ्तार

 CHARKOP
फर्जी पैकर्स मूवर्स गैंग का भांडाफोड़, तीन गिरफ्तार
फर्जी पैकर्स मूवर्स गैंग का भांडाफोड़, तीन गिरफ्तार
फर्जी पैकर्स मूवर्स गैंग का भांडाफोड़, तीन गिरफ्तार
See all

अगर आप कहीं शिफ्ट हो रहे हैं और आप सामान एक जगह से दूसरी जगह किसी मूवर्स पैकर्स की मदद से शिफ्ट करवा रहे हैं तो हो जाइए सावधान! क्योंकि यह काफी हद तक संभव है कि कोई फर्जी पैकर्स मूवर्स गैंग वाले आपका सामान लेकर रफू चक्कर हो जाएं। इसी से जुड़ी एक घटना कांदिवली के चारकोप में सामने आई है। इस मामले में पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है।

चारकोप पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार चारकोप निवासी चांदनी छेड़ा और घाटकोपर निवासी चेतन परमार घरेलू सामान बुक करवा कर उसे कच्छ (गुजरात) और बड़ोदरा भेजने की बजाए वसई के नायगांव में ले जाकर छुपा देते और फिर मौका देख कर इन सामानों को कम कीमत में बाजार या अपने एजेंट्स के जरिए बेच देते थे। पुलिस को इनके पास से 9 लाख रुपये की ठगी के सामान मिले हैं। फिलहाल पुलिस की गिरफ्त में तीन शातिर बदमाश आए हैं, जो फर्जी मूवर्स ऐंड पैकर्स कंपनी खोलकर लोगों को ठगने का काम करते थे।

गुजरात के कच्छ में कपड़ा का कारोबार करने वाली चांदनी छेड़ा बताती हैं कि उन्होंने 25 अप्रैल को जस्ट डायल कंपनी से गोपाल कृष्णा पैकर्स कंपनी का नंबर लेकर इसे कॉल किया और 30 अप्रैल को 10 हजार में से 1 हजार की छूट मिलने के बाद उन्होंने 9 हजार रुपये देकर चारकोप से कच्छ सामान भेजने के लिए बुक कराया।

चांदनी के अनुसार बुक किए हुए सामानों में से एक टीवी और एक फ्रिज को वह मां के घर पर छोड़ना चाहती थी। इसके लिए जब उन्होंने गोपाल कृष्ण पैकर्स कंपनी को दोबारा कॉल किया तो कंपनी का मोबाइल नंबर बंद मिला और सामान भी तीन से चार दिनों में कच्छ नहीं पहुंचा, जिसके बाद चांदनी ने इस कंपनी पर शक होने पर चारकोप पुलिस का रूख किया। हालांकि, चारकोप पुलिस ने ठगी किये गए 70 करीब फीसदी घरेलू सामान वापस देने की बातें कही हैं। यही नहीं ऐसे ही दो और पीड़ित है जिनकी कहानी इनसे मिलती जुलती है।

चारकोप पुलिस सूत्रों के अनुसार, पीड़ितों के साथ पैकर्स कंपनियों द्वारा ठगी की वारदात दर्ज कर जब जांच की गई तो पता चला कि कोई शातिर गैंग इस तरह के वारदात को अंजाम दे रहे हैं। इसके बाद सीसीटीवी कैमरा और शहर में मौजूद पैकर्स ऐंड मूवर्स कंपनियों का नंबर लेकर उसकी बारीक जांच-पड़ताल की गई तो पाया गया कि विक्रोली और घाटकोपर से कुछ संदिग्ध पैकर्स कंपनियां इस तरह के काम में संलिप्त हैं। जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने जाल बिछाया और तीन लोगों को शहर के विभिन्न हिस्से से गिरफ्तार कर लिया, जिनमें से एक आरोपी गोपाल विश्नोई (19) है। गोपाल को 12 मई को नायगांव से गिरफ्तार किया गया, जो गोपाल कृष्णा पैकर्स नाम से ठगी कंपनी चलाता था जबकि अन्य दोनों से पूछताछ जारी है।

पुलिस की गिरफ्त में आए तीनों आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 408, 420 और 34 के तहत मामला दर्ज कर उन्हें कोर्ट में पेश किया गया, जहां से सभी आरोपियों को 20 मई तक के लिए पुलिस रिमांड में भेज दिया गया है।


डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दे) 

Loading Comments