अंधकार में अनाथ बच्चों का भविष्य

 Mandala
अंधकार में अनाथ बच्चों का भविष्य

मानखुर्द - मानखुर्द में हुए सिलेंडर ब्लास्ट में अनाथ हुए दोनों बच्चों की देखरेख सरकार द्वारा किए जाने की मांग स्थानीय लोगों ने की है। साईं बाबा चाल में रहने वाले संजय वानखेड़े (35), उनकी पत्नी रेखा(30) और उनकी मां कस्तूरबाबाई वानखेड़े (50) की सिलेंडर ब्लास्ट में मौत हो गयी। जबकि इसी परिवार की एक लड़की विशाखा वानखेड़े (10) और लड़का प्रशिक वानखेड़े (7) जख्मी हो गए थे। मुंबई में विशाखा और प्रशिक के परिवार के अलावा अब इस दुनिया में कोई नहीं है। स्थानीय लोगों ने सरकार से इन बच्चों की देखरेख के लिए सरकार से मांग की है।

Loading Comments